यहां 155.21 करोड़ के बिटक्वॉइन रैकेट का भंडाफोड़, पूर्व बीजेपी विधायक था बिचौलिया

सूरत। गुजरात के सूरत जिले में बड़े बिटक्वॉइन रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। भारतीय जनता पार्टी का पूर्व विधायक इस मामले में बिचौलिए की भूमिका में था। मामले का खुलासा बिल्डर शैलेष भट्ट की उस चिट्ठी से हुआ, जो उन्होंने गुजरात के मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा को फरवरी में लिखी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि अमरेली पुलिस ने उनसे 12 करोड़ रुपए के बिटक्वॉइन जबरन वसूल लिए थे। मंत्री ने इसके बाद उनकी शिकायत सीआईडी को सौंप दी थी। सीआईडी ने जांच में पाया कि भट्ट भी लोगों से पैसे ऐंठते थे। अमरेली पुलिस ने उन्हें पकड़ा, उससे पहले तक वह 155.21 करोड़ रुपए के बिटक्वॉइन कई लोगों से वसूल चुके थे।

एजेंसी ने इसी बाबत नया मामला दर्ज किया है, जिसमें भट्ट समेत एसपी जगदीश पटेल और पुलिस इंस्पेक्टर अनंत पटेल के नाम भी हैं। बीजेपी के पूर्व विधायक नलिन कोटाड़िया भी इस मामले में आरोपी हैं। फिलहाल वह फरार चल रहे हैं। सीआईडी जांच के मुताबिक, दो साल पहले सतीश कुंभानी नाम के शख्स ने ह्यबिट कनेक्ट इन्वेस्टमेंट कंपनीह्ण बनाई थी। यह कंपनी भट्ट जैसे लोगों को पैसे निवेश करने के लिए बहलाती-फुसलाती थी। एक से चार फीसदी प्रति दिन के हिसाब से रिटर्न का वादा किया जाता था। ऐसे में भट्ट ने दो करोड़ रुपए कंपनी में लगा दिए। दिसंबर 2017 में कंपनी के मालिक बोरिया-बिस्तर समेट कर फुर्र हो गए।

new jindal advt tree advt
Back to top button