सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मचा बवाल, लोगों ने कहा देर ही सही पर कुछ तो अच्छा हुआ

जशपुर. वैसे तो इन दिनों जशपुर का स्वास्थ्य विभाग अपनी कारगुजारियों से पूरे प्रदेश में सुर्खियां बटोर रहा है, पर कार्यशैली ऐसी है ना सुधरती है, न सुधारने की ही कवायद दिखती है। अब इस बार जशपुर जिले के सबसे बड़ा ब्लॉक बग़ीचा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रमें हुआ कुछ ऐसा है, कि बग़ीचा वासी गुस्से से आग बबूला हैं। गुस्से का आलम यह है कि अपने चुने हुए प्रतिनिधि से लेकर प्रशासन तक कोसते नजर आ रहे हैं, सबसे बड़ी बात यह है दलीय राजनीति से ऊपर उठकर लोग आक्रोश जता रहे हैं।

दरअसल बग़ीचा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जिसमे आश्रितता बीहड़ और सुदूर अंचल के एक बड़े क्षेत्र होने के साथ यहां स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी लोगों को अक्सर खलती है। इस बीच महीने भर पहले बग़ीचा में एक स्पेशलिस्ट जयंत भगत (स्त्री रोग विशेषज्ञ) के रूप में सौगात बग़ीचा अस्पताल को मिली।

इस पर बग़ीचा के लोग खुश हुए। लोगों ने कहा देर ही सही कुछ तो अच्छा हुआ। साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर लोगों की दौड़ अम्बिकापुर की भी कम हो गयी। क्योंकि बग़ीचा को मिले इस स्पेशलिस्ट अपने पेशे के साथ खूब न्याय करते दिखे। मगर 23 अगस्त को जशपुर सीएमएचओ के द्वारा एक आदेश पारित कर अब जिला अस्पताल में सेवा देने के आदेशित कर दिया। जैसे ही सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को यह जानकारी मिली, लोग गुस्से में आग बबूला होकर सड़क चौराहों रोष में भरकर प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं, जहां प्रशासन से लेकर प्रतिनिधियों तक को भी नही छोड़ रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button