सेक्स एंड रिलेशनशिप

मॉडर्न रिलेशनशिप के होते हैं ये 5 गंदे सच…

जिंदगी भर का रिश्ता… सात जन्मों का साथ… जीना सिर्फ तेरे लिए… ये सब पुराने जमाने की बातें हैं और इन्हें ओल्ड रिलेशनशिप की खासियत मानी जाती है. लेकिन आज के

जमाने के रिलेशनशिप अलग होते हैं. बहुत प्रैक्टिकल होते हैं.

भावनाओं पर इनका कंट्रोल होती है. आज के रिलेशनशिप में लोग एक-दूसरे के साथ हैं भी और नहीं भी … लेकिन सबके साथ जरूर हैं, जिसमें सोशल नेटवर्क का बड़ा हाथ होता

है. लेकिन इसका नेटवर्क जितना बड़ा है क्वालिटी उतनी है कम है. ऐसा इन पांच बुरी बातों के कारण है जो आज के मॉडर्न रिलेशनशिप से जुड़ी हैं.

लुक बेस्ड है

आज के अधिकतर रिलेशनशिप लुक बेस्ड हैं. चेहरा देखकर लोगों को प्यार होता है जिसे लोग फर्स्ट साइट ऑफ लव कहते हैं… मतलब पहली नजर का प्यार जो की बार-बार होता

है. ऐसे रिलेशनशिप जितनी जल्दी जुड़ते हैं उससे कहीं जल्दी टूट भी जाते हैं. ऐसे रिलेशनशिप बाहर से जितने अच्छे और हैप्पनिंग लगते हैं उनमें अंदर दिल से जुड़ाव उतना ही कम

होता है.

रात भर की चैटिंग

आज सोशल नेटवर्क का जमाना है. हर कोई एक-दूसरे से जुड़ा है. नहीं भी जुड़ा होगा तो सोशल साइट्स के माध्यम से एक-दूसरे से जुड़ जाएगा. फिर टेक्सटिंग, वॉट्सएप्प, फेसबुक

और ई मेल हैं जिनके जरिये रात भर बातें होती है. पार्टनर की सारी जानकारी दो रातों में पता चल जाती हैं औऱ तीसरे रात से किसी ओर से बातें शुरू हो जाती हैं.

लव से ज्यादा लस्ट

आज कल के रिलेशनशिप में लव से ज्यादा लस्ट की एक्साइटमेंट होती है. भावनाओं को व्यक्त करने से ज्यादा लोग फीजिक को व्यक्त करने में ज्यादा यकीन करते हैं. लोगों की

पंचलाइन ही है, – दिल की भावनाएं व्यक्त करने के लिए फेस टू फेस मिलना जरूरी है और इन सबके बीच थोड़ा मेल-मिलाप सामान्य बात है.

अर्थ का अनर्थ

आज लोग अर्थ का अनर्थ निकालने में उस्ताद हैं. यहां लोगों की चुप्पी को उनका घमंड समझ लिया जाता है. दुस्साहस को कूलनेस का नाम दे दिया गया है. ऐसे में अगर रिश्ता

कोई नेक्स्ट लेवल तक पहुंचाना भी चाहेगा तो कैसे पहुंचेगा.

वन नाइट स्टैंड

आज कल के रिलेशनशिप की सबसे बुरी बात है – वन नाइट स्टैंड. लोग रात साथ में गुजारते हैं. फिर बात बनी तो ठीक नहीं तो लोग आगे बढ़ने में यकीन रखते हैं. इससे

आपकी ये फील नहीं होता कि आजकल का रिलेशनशिप केवल सेक्स के इर्द-गिर्द ही नहीं घूमता?

Tags
jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.