ज्योतिष

छात्रों को पढ़ाई में सफल बनाए ये 5 स्पेशल मंत्र

इसे करने से पहले सिर्फ इस बात का ध्यान रखना ज़रूरी होता है कि इन मंत्रों का जाप करते समय पूरी सावधानी बरती जाए

मंत्र जाप की हिंदू धर्म में क्या महत्ता है, इससे कोई अंजान नहीं होगा। मंत्र जाप करना हर किसी के लिए करना लाभदायक माना जाता है।

हिंदू धर्म में कई तरह के मंत्र हैं, जिनका हर कोई उच्चारण कर सकता है। लेकिन इसे करने से पहले सिर्फ इस बात का ध्यान रखना ज़रूरी होता है कि इन मंत्रों का जाप करते समय पूरी सावधानी बरती जाए। आज हम आपको बताएंगे कि बच्चों को किन 5 स्पेश्ल मंत्रों का जाप करना चाहिए।

गुरू मंत्र-

गुरूर्ब्रह्मा गुरूर्विष्णुः गुरूर्देवो महेश्वरः गुरू साक्षात् परंब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः।।

सरस्वती मंत्र-

सरस्वती नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणी। विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु मे सदा।।

विष्णु मंत्र-

शान्ताकारं भुजग-शयनं पद्मनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगन-सदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम्। लक्ष्मीकान्तं कमल-नयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम् (योगिभिर – ध्यान – गम्यम्) वन्दे विष्णुं भवभय-हरं

शिव गायत्री मंत्र-

ॐ महादेव्यै च विद्महे, विष्णुपत्न्यै च धीमहि, तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्।।

ॐ महादेवाय विद्महे, रुद्रमुर्तय धीमहि तन्नो शिव: प्रचोदयात

कृष्णा गायत्री मंत्र-

ॐ धामोधराया विद्महे रुक्मिणी वलऊ धीमहि तन्नो कृष्णा प्रचोदयात।।

Tags