कांग्रेस ने बैठक में प्रत्याशियों को दिए ये कई अहम दिशा-निर्देश

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव का परिणाम 11 दिसंबर को घोषित

रायपुर:

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में मतदान समाप्ति के बाद अब विभिन्न राजनैतिक दलों को काउंटिंग का इंतजार है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव का परिणाम 11 दिसंबर को घोषित हो जाएगा।

लेकिन नतीजों के पहले कांग्रेस ईवीएम की सुरक्षा और मतगणना के दौरान संभावित गड़बड़ी को लेकर सतर्क है। कांग्रेस ने इन्हीं तमाम संभावित गड़बड़ियों को खत्म करने के लिहाज से एक्सरसाइज शुरू कर दी है।

कांग्रेस ने आज राजीव भवन में सभी 90 विधायक प्रत्याशियों की बैठक बुलाई । साथ ही बैठक में कई अहम निर्देश जारी किए हैं। संगठन ने अपने निर्देश में कहा है कि स्ट्रांग रूम की कड़ी निगरानी की जाए।

सरकार बनती देख कांग्रेस के आला नेता विधायकों की खरीद फरोख्त की अटकलों पर भी चिंता जाहिर कर रहे हैं, लिहाजा प्रत्याशियों को नसीहत दी गई है कि मतगणना के दिन नतीजे जारी होने के बाद निर्वाचन सर्टिफिकेट लेकर सीधे कांग्रेस की ओर से बताई गई जगह पर पहुंचें। जुलूस निकालने पर फिलहाल मनाही की गई है।

बैठक के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने दो टूक कहा है कि इस चुनाव में हम बीजेपी को गड़बड़ी का कोई मौका नहीं देंगे।बघेल ने कहा कि हमारी मेहनत ईवीएम में दर्ज हो गई है।

अब मतों की गणना ठीक से हो यही हमारी कोशिश है। इधर प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया ने कहा कि स्ट्रांग रम की सुरक्षा के लिए चुनाव आयोग ने विस्तृत गाइडलाइन बनाया है। उसका उल्लंघन न हो।

हमने अपने सभी प्रत्याशियों को चुनाव आयोग के निर्देश से अवगत कराया है।  चुनाव अच्छा हुआ है। मतगणना भी ठीक होनी चाहिए। बीजेपी की ओर से विधायकों के खरीद फरोख्त की अटकलों को लेकर पुनिया ने कहा- खरीद फरोख्त का मामला कांग्रेस में नहीं है।

हमारे कार्यकर्ता निष्ठावान है। बीजेपी यदि सोचती है तो ये गलत है। कांग्रेस पार्टी के विधायकों का विचलित होना असम्भव है। कोई भी इस धोखे में न रहे।

1
Back to top button