भारत नेट परियोजना की तीसरी बैठक में मुख्य सचिव ने दिए ये निर्देश

परियोजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी

रायपुर:मुख्य सचिव अजय सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में भारत नेट परियोजना की तीसरी बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में परियोजना के फेस-2 के तहत छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क कनेक्टिविटी के विस्तार के लिए किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की गयी।

मुख्य सचिव ने परियोजना के कार्यो में गति लाने के लिए ग्रामीण विकास, वन, गृह, दूरसंचार विभाग (भारत सरकार) और अन्य विभागों के अधिकारियों को समन्वय से कार्य करने के निर्देश दिये।

बैठक में चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एलेक्स पाल मेनन ने परियोजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।बैठक में बताया गया कि राज्य में लगभग छह हजार ग्राम पंचायतों में आप्टिकल फाइवर नेटवर्क कार्य के लिए एक हजार 624 करोड़ रूपये की कार्ययोजना बनायी गयी थी।

इसके तहत प्रदेश के ग्राम पंचायतों में उच्च गुणवत्ता का संचार कनेक्टिविटी के लिए वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है। बैठक में परियोजना पर होने वाले अतिरिक्त व्यय के लिए विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग आर.पी. मण्डल, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव संजय शुक्ला, वाणिज्य, उद्योग तथा वित्त विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, वन, लोक निर्माण तथा अन्य विभागों के अधिकारियों सहित भारत संचार निगम, दूर संचार विभाग और ब्राड बैंड नेटवर्क के अधिकारी भी मौजूद थे।

Back to top button