CBSE के रिजल्ट में सामने आई ये गलतियां, अधिकारियों ने कहा कि रिवेल्यूएशन नहीं हो सकती

चंडीगढ़ः हाल ही में सीबीएसई की 12वीं कक्षा का रिजल्ट आया है। इस रिजल्ट से बहुत सारे बच्चे और पेरेंट्स हैरान हैं। क्योंकि जिस तरह का 12वीं का रिजल्ट आया हो वो बेहद चौकानें वाला है। इसी रिजल्ट के खिलाफ सोमवार को चंडीगढ़-मोहाली में पेरेंट्स ने सीबीएसई के अधिकारियों से मिलकर रिवेल्यूएशन का मोकै दिए जाने की मांग की। लेकिन अधिकारियों के रवैये ने उनकी एक उम्मीद पर पानी फेर दिया।

दरअसल, अधिकारियों ने कहा कि रिवेल्यूएशन नहीं हो सकती है। इस पर परिजनों का गुस्सा भड़क गया और सुबह से सीबीएसई के दफ्तर के बाहर धरना लगाकर बैठे परिजन सुबह 11 बजे तक वैसे ही बैठे रहे। बेद में साम को सीबीएसई के अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी और दफ्तर को ताला जड़ड कर चल दिए। हैरानी की बात यह है कि 4 घंटे धरना देने के बाद सीबीएसई के रीजनल ऑफिसर ने सीबीएसई की ओर से रीवेल्युएशन सिस्टम को बंद किए जाने की बात कह उन्हें वापस जाने के लिए कहा गया।

आखिरकार स्टूडेंट्स व पैरेंट्स शाम 4 बजे CBSE बिल्डिंग से घर के लिए निकल पड़े और रिवेल्युएशन के लिए कोर्ट में जाने का फैसला किया ताकि CBSE की लापरवाही की वजह से उनके बच्चों की लाइफ खराब नहीं हो। वह दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक धरना पर बैठे रहे। सीबीएसई के रिजल्ट में एक एेसे बच्चे के मैथ्स में जीराे नंबर दिया गया है, जिसने आईआईटी जेईई मेन्स व एनडीए क्वालीफाई किया हुअा है।

ये है गड़बड़ी
12वीं के रिजल्ट में ज्यादातर बच्चों के अंग्रेजी, कंप्यूटर साइंस व फिजिकल एजुकेशन में कम नंबर आए हैं।सुबह करीब 9 बजे चंडीगढ़ भवन विद्यालय में स्टूडेंट्स व उनके पैरेंट्स प्रिंसिपल व टीचर्स से मिलने पहुंचे। स्कूल प्रिंसिपल ने भी सीबीएसई के रीजनल ऑफिसर से मुलाकात कर उनसे रिवेल्युएशन की बात कही, लेकिन उन्होंने मना कर दिया।

advt
Back to top button