गर्मियों में फूड पॉइजनिंग से तुरंत राहत दिलाएंगे ये टिप्स

मौसम बदलने के साथ ही हमारा खान-पान और लाइफस्टाइल दोनों ही बदल जाते हैं। गर्मियों में हमें खान-पान के लिए काफी सावधानियां बरतनी पड़ती है। दरअसल, ऐसे मौसम में शरीर की डाइजेशन कमजोर हो जाती है। इसके अलावा गर्मी के मौसम में खान-पान की चीजें जल्दी खराब होती है, जिससे इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है और फूड पॉइजनिंग भी हो जाती है। इससे पेट में दर्द, उल्टी और मितली जैसी प्रॉब्लम्स होती है। अगर आप गर्मियों में फूड पॉइजनिंग से बचना चाहते हैं, तो ये टिप्स अपनाएं।

इन चीजों से मिलेगी राहत केला

फूड पॉइजनिंग में केला बहुत फायदेमंद होता है, क्योंकि इसमें पोटैशियम ज्यादा होता है, जो पेट के संक्रमण को कम करता है। केला को दही में मैश करके खाएं। इससे दस्त बहुत जल्दी ठीक होता है।

एक चम्मच अदरक का रस पीकर आधा ग्लास पानी पी लें। अदरक में एंटीबैक्टीरियल और दर्द निवारक गुण होते हैं। ये संक्रमण को खत्म कर देगा। ध्यान रहे कि अदरक का सेवन ज्यादा ना करें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है।

पानी

वैसे तो पानी पीना फायदेमंद होता है लेकिन फूड पॉइजनिंग के उपचार में पानी और भी जरूरी हो जाता है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। साथ ही सूप, पतली खिचड़ी, नारियल पानी, चावल का पानी, ग्लूकोल, इलेक्ट्रॉल पाउडर का घोल आदि लेना चाहिए।

जीरा

जीरे का प्रयोग करने से फूड पॉइजनिंग ठीक हो जाती है। इसके लिए एक चम्मच भूने जीरे को पीसकर अपने सूप में मिलाकर इस्तेमाल करें।

नींबू का रस

नींबू के रस की एसिडिटी फूड पॉइजनिंग के बैक्‍टीरिया खत्म करता है इसलिए इसे फूड पॉइजनिंग में लाभकारी मानते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

पके हुए भोजन का सेवन 4-6 घंटे के अंदर कर लें। इससे ज्यादा समय तक खाने की चीजें रखने से वो खराब हो सकती हैं।

बासी खाना खाने से बचें।

गूंथे हुए आटे को फ्रिज में रखकर अगले दिन इस्तेमाल न करें।

दूध, दही, पनीर आदि डेयरी वाले आहारों को ताजा ही इस्तेमाल करें।

मांस, मछली, चिकन आदि को ज्यादा समय तक फ्रिज में न रखें, बल्कि कोशिश करें कि ये ताजे ही इस्तेमाल किए जाएं।

बाजार में तले-भुने और फास्ट फूड्स का सेवन न करें।

Back to top button