इन सब्जियों से बुढ़ापे में याददाश्त खोने का खतरा होगा कम

मिलते हैं शरीर को जरूरी सभी विटामिन्स, एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स

फल और सब्जियां हमारे स्वास्थ्य के लिेए न सिर्फ फायदेमंद हैं बल्कि जरूरी हैं। शरीर के लिए जरूरी सभी विटामिन्स और मिनरल्स हमें इनसे प्राप्त होते हैं।

जो लोग हरी पत्तेदार सब्जियां, गहरे नारंगी और लाल रंग वाली सब्जियां, बेरीज (स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी, ब्लूबेरी) खाते हैं और संतरे का जूस पीते हैं, उनके बुढ़ापे में याददाश्त खोने का खतरा कम हो जाता है।

शोध में मिली जानकारी-
शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जो पुरुष बुढ़ापे से 20 साल पहले ज्यादा मात्रा में फल और सब्जियां खाते हैं, उनमें सोच और याददाश्त से जुड़ी परेशानियां कम होती हैं।

यह शोध कुल 27,842 पुरुषों पर किया गया, जिनकी औसत उम्र 51 साल थी। इनमें 55 फीसदी प्रतिभागियों की अच्छी याददाश्त देखी गई, जबकि 38 फीसदी की ठीकठाक याददाश्त थी और केवल 7 फीसदी प्रतिभागियों की याददाश्त कमजोर थी। यह शोध न्यूरोलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया है।

सब्जियां और संतरे का जूस है फायदेमंद-

जो पुरुष अधिक सब्जियों का सेवन करते हैं, उनमें कमजोर सोच कौशल विकसित होने की संभावना उन पुरुषों की तुलना में 34 फीसदी कम होती है, जो कम मात्रा में सब्जियों का सेवन करते हैं।

शोधकर्ताओं ने पाया कि जो पुरुष रोजाना संतरे का जूस पीते हैं, उनमें कमजोर सोच कौशल विकसित होने की संभावना उन पुरुषों की तुलना में 47 फीसदी कम होती है, जो महीने में कम से कम एक बार भी संतरे के जूस का सेवन नहीं करते हैं।

लंबे समय तक हुआ अध्ययन-

हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के बोस्टन स्थित टीएच चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के चांगझेंग यूआन ने कहा, ‘इस शोध की सबसे खास बात यह थी कि हमने प्रतिभागियों का 20 साल की अवधि तक अध्ययन किया।

हमारे शोध से इस संबंध में और पुख्ता सबूत सामने आएं हैं कि दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए सही खानपान महत्वपूर्ण है।

क्यों है फायदेमंद-
दरअसल फलों और सब्जियों के अलग-अलग रंगों का कारण अलग-अलग पौष्टिक तत्व होते हैं। ऐसे में जब आप हर रंग की फल और सब्जियों का सेवन करते हैं, तो शरीर के जरूरी सभी विटामिन्स, एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स आपको मिलते हैं, जिससे मानसिक और शारीरिक दोनों स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

1
Back to top button