छत्तीसगढ़मध्यप्रदेशराज्य

अपने देश राज्य में मजे से पूरी पगार लेते हुए दिन गुजार रहे ये कर्मचारी

अधिकांश भोपाली, इंदौरी, शहडोल व जबलपुरीयां बिना अनुमति शुक्रवार 20 मार्च को ही भाग गए थे

रायपुर: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बाद छत्तीसगढ़ विभाजन के साथ विरासत में मिले पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश के भोपाल इंदौर जबलपुर शहडोल के आस – पास से मिले शासकीय कर्मचारी अब छत्तीसगढ़ शासन पर बोझ बनते जा रहे हैं ।

विधान सभा, सचिवालय ,मंत्रालय एवं अन्य विभागों को मिलाकर लगभग 500 अधिकारी और कर्मचारी छत्तीसगढ़ में कार्यरत हैं । इनमें महामारी के पहले भी और अब भी हमारे प्रदेश की विकास और अपने दायित्वों कार्यों के प्रति कभी भी सजगता नहीं दिखी।

वे तो बस शुक्रवार को अपने मध्य प्रदेश के गांव जाना है और सोमवार देर तक आना है इन्हीं जुगत में लगे रहते हैं। ज्ञात हो कि लाकडाउन के पहले विधानसभा चल रही थी और करोना की आहट पर शासन ने आदेश जारी किया था ,लाकडाउन के समय भी शासन ने मुख्यालय नही छोड़ने का आदेश जारी किया था।

अधिकांश भोपाली, इंदौरी, शहडोल व जबलपुरीयां बिना अनुमति शुक्रवार 20 मार्च को ही भाग गए थे । शासन समय-समय पर आदेश के ऊपर आदेश दायित्व के निर्वहन पर जारी करती रही लेकिन ये अपने देश राज्य में मजे से पूरी पगार लेते हुए दिन गुजार रहे हैं। हमारे नौकरशाहों के साथ इनकी जबरदस्त जुगलबंदी है ।

20 मार्च के बाद से अभी तक नही आये अगर इन्हें दायित्व बोध होता या जवाबदेही अपने कर्तव्य के प्रति होती तो ट्रेन आदि निजी वाहन से आ सकते है। मगर न उन्हें कोइ चिंता है ना भय ,न अधिकारियों को हिम्मत कि उन्हें बुला सके न तनखा काट सके हैं । यह पहले भी छत्तीसगढ़ी दुश्मन थे और आज भी बने हुए हैं।

20 मार्च से पहले से इनकी आदत होती है शनिवार इतवार छुट्टी होती है तो शुक्रवार या गुरुवार को भाग जाते है । इन पर इस वैश्विक महामारी के दौरान समय-समय पर छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने अधिकारी और कर्मचारियों के लिए महत्वपूर्ण आदेश जारी करते रहे हैं आदेश में सभी अवकाश रद्द किए गए थे और मुख्यालय छोड़ने से मना किया था ।

फिर भी छत्तीसगढ़ पर बोझ बने ये कर्मचारी अधिकारी भोपाल जबलपुर इंदौर शहडोल के अपने घर में पड़े है । इनके ऊपर कार्यवाही होनी चाहिए , अपना दायित्व बोध क्यों नहीं हो रहा है। प्रदेश के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को उस पर गंभीरता से चिंतन कर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

Tags
Back to top button