कलेक्टोरेट के पीछे बनाये गए आक्सीजोन के जाली और ग्रिल ले उड़े चोर

ईएसी कालोनी की घेराबंदी के लिए लगाए रोड पर लाखों रुपए के ग्रिल एक के बाद एक गायब

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कलेक्ट्रेट के पीछे बनाये गए आक्सीजोन से चोर जाली और ग्रिल ले उड़े। जिस पर जिला और नगर निगम प्रशासन ने संज्ञान लेकर तानेने में रिपोर्ट दर्ज कराई और न ही गार्ड में प्रशासन को इस घटना की जानकारी दी। ईएसी कालोनी की घेराबंदी के लिए लगाए रोड पर लाखों रुपए के ग्रिल एक के बाद एक गायब हो रहे है।

मानो सरकार ने चोरों के लिए राहत कार्य खोल दिया हो। कालोनीवासियों ने जिला प्रशासन और नगर निगम प्रशासन से मांग की है कि निजी सुरक्षा कंपनी की जगह पुलिस या होमगार्ड को सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी जाए जिससे ऑक्सीजोन असामाजिक तत्वों की धमाचौकड़ी से मुक्त हो सके।

गार्ड 24 घंटे तैनात होने का ऑक्सीजोन को कोई सुरक्षात्मक लाभ नहीं मिल रहा है। चोरी के साथ असामाजिक तत्व, गुंडे-बदमाशों के ठिकाने में तब्दील हो गया है। जिससे आक्सीजोन से सगे ईएसी कालोनीवासियों की नींद हराम हो गई है।

सुबह चार बजे से देर रात ऑक्सीजोन गुंडे बदमासों से आबाद रहता है। गार्ड ऑक्सीजोन की चौकीदारी छोड़कर उन्हीं गुंड़ों बदमाशों की तिमारदारी में लगा रहता है। उनके लिए चायनाश्ता बीड़ी-सिगरेट,गुटका पाऊच लाने में सारा समय बर्बाद कर रहा है। गार्ड के बाहर जाते ही चोरों का गिरोह ऑक्सीजोन में ंलगा ग्रिल निकाल कर कबाड़ी को बेचकर उस पैसे से गांजा, चरस लाकर वहीं ऑक्सीजोन में गार्ड के साथ सुट्टा लगाते देख सकते है।

वहीं सुरक्षा एजेंसी कभी जांच करने नहीं पहुंचती कि जिस गार्ड को वहां बेजा है वह काम ढंग से कर रहा है या नहीं। चोरों का गिरोह बहुत ही शातिर है, गार्ड को बीड़ी-सिगरेट, चायनाश्ता में लगाकर लाखों रुपए के ग्रिल उड़ा ले जा चुके है।

असुरक्षा को लेकर ईएसी कालोनीवासियों ने सिविल लाइन थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराने के बाद भी अब तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हुी और न ही पुलिस गश्ती दल ने कभी ऑक्सीजोन में झांकने की कोशिश की।

ईएसी कालोनी के रहवासियों ने निजी सुरक्षा एजेंसी के बजाय पुलिस या होमगार्ड की डयूटी लगाने की मांग कलेक्टर-एसएसपी से की है। आक्सीजोन में वायु प्रदूषण रोकने के बजाय असामाजिक प्रदूषण बढ़ा रहा है। जिला प्रशासन ने नगर निगम ने मिलकर कलेक्टोरेट के पीछे ईएससी कालोनी उजाड़कर करोड़ों की लागत से ऑक्सीजोन का निर्माण किया है।

लेकिन प्रशासन की नेक नियति से बनाए गए ऑक्सीजोन में अब अड्डेबाजों, नशाबाजों और तथाकथित लवर्स का भी जमावड़ा होने लगा। इससे इस खूबसूरत जगह की पहचान शुरूआती दौर में ही प्रदूषित हो गई है। असामाजिक तत्वों की आमद बढऩे से ईएससी कालोनी के रहवासियों की सुरक्षा और शांति बाधित हो चुकी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button