छत्तीसगढ़

चोरी के जेवर से लोन ले रहा था चोर गैंग, 33 लाख के गहने बरामद

रायपुर।

शहरों में रात होते ही सूने मकानों में धावा बोलकर गहने चुराने वाले एक शातिर गैंग को पुलिस ने पकड़ा है। गैंग की निशानदेही पर 33 लाख रुपये के गहने बरामद हुए हैं। यह गहने मणपुरम गोल्ड लोन संतोषी नगर से बरामद हुआ जहां आरोपियों ने गहना अपना बताकर गोल्ड लोन ले रखा था। 33 लाख के गहने के बदले आठ लाख रुपये लोन लिए थे। पकड़ में आने के बाद सोमवार को इसका पर्दाफाश हो सका।

क्राइम ब्रांच पुलिस के मुताबिक 1038.04 ग्राम गहने गोल्ड लोन कंपनी के कब्जे से बरामद किया गया। सुबह भाठागांव बाजार चौक के पास एक ज्वेलरी दुकान में संदिग्ध हालत में युवक कन्हैया लाल साहू निवासी बोरियाकला के सक्रिय रहने की सूचना मिली थी।

संदिग्ध हालत में कन्हैया को क्राइम ब्रांच की गश्त टीम ने पकड़ा। जब उससे पूछताछ की गई तो वह हड़बड़ा गया। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने के बाद सख्ती बरती तो आरोपी कन्हैया ने रायपुर जिले के साथ दूसरे शहरों में चोरी करने की बात स्वीकारी।

साथ ही अपने दो साथी सूरज बघेल डुमरतराई और नोवल सायतोड़े बोरियाकला के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने कन्हैया के साथ दोनों साथियों को भी दबोचा। उनकी निशानदेही में चोरी के गहने व दूसरे जेवरात बरामद किए।

पुलिस का कहना है आरोपी डेढ़ दो साल से चोरी कर रहे थे। अक्सर सूने मकानों में निशाना साधकर जेवर चुराते थे। पिछले कई सालों में लाखों रुपये के गहने चोरी कर बारी-बारी से आरोपियों ने अपने-अपने नाम से लोन निकलवा लिया। करीब आठ लाख रुपये लेकर आपस में बांट लिए। चोरी के गहनों से लोन लेने के खुलासे के बाद पुलिस संतोषी नगर स्थित मणपुरम गोल्ड लोन के दफ्तर पहुंची और वहां से जेवरात जब्त किए।

चोरी की कमाई से बना रहा था घर

आरोपी कन्हैया साहू चोरी के गहने से मिली रकम से अपना घर बनवा रहा था। बोरियाकला में जांच के दौरान यह बात सामने आई। पुलिस ने बताया कि मणपुरम गोल्ड लोन से आठ लाख रुपये लिए थे जिसमे से सूरज बघेल को 3 लाख और दूसरे साथी नोवल को 90 हजार रुपये दिए थे।

कंपनी के खिलाफ दर्ज हो सकता है केस

क्राइम ब्रांच के बताए अनुसार गोल्ड लोन देने वाली कंपनी के रूल रेगुलेशन देखे जाएंगे। सुरक्षा नियमों के विपरीत अगर गड़बड़ी उजागर हुई तो चोरी का सामान खरीदने के मामले में भी कार्रवाई होगी। लाखों रुपये के गहने आरोपियों ने किस तरह से ठिकाने लगाए थे, इसके बारे में जांच पड़ताल होगी।

– गोल्ड लोन देने वाली कंपनी की भूमिका भी जांची जाएगी। इसके पहले दुर्ग में चोरी के जेवरात रखकर लोन लेने का बड़ा खुलासा हुआ था। रायपुर के मामले में अगर संलिप्तता सामने आई तो नियमानुसार कार्रवाई होगी। – दौलत राम पोर्ते, एएसपी क्राइम

Summary
Review Date
Reviewed Item
चोरी के जेवर से लोन ले रहा था चोर गैंग, 33 लाख के गहने बरामद
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags