‘चौकीदार के अलर्ट होने से चोर बेचैन हो गए हैं’ : CM योगी

मायावती की इस बयान पर पलटवार करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती शुक्रवार सुबह ट्वीट कर कहा कि भाजपा वाले चाहे जो फैशन करें बस संविधान-कानून के रखवाले बनकर काम करें, जनता बस यही चाहती है.”

उन्होंने ट्वीट किया, ‘भाजपा के मंत्री और नेतागण पीएम मोदी की देखादेखी ‘चौकीदार’ बन गए हैं. पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जैसे लोग बड़ी दुविधा में हैं कि क्या करें? जनसेवक/योगी रहें या अपने को चौकीदार घोषित करें. बीजेपी वाले चाहे जो फैशन करें बस संविधान/कानून के रखवाले बनकर काम करें, जनता बस यही चाहती है.’

मायावती ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर हमला बोला और तंज कसते हुए कहा था कि राफेल सौदे की गोपनीय फाइल यदि चोरी हो गई तो गम नहीं, किन्तु देश में रोजगार की घटती दर और बढ़ती बेरोजगारी एवं गरीबी, श्रमिकों की दुर्दशा, किसानों की बदहाली आदि के सरकारी आंकड़े पब्लिक नहीं होनी चाहिये. वोट/इमेज की खातिर उन्हें छिपाये रखना है. क्या देश को ऐसा ही चौकीदार चाहिए?

जिसपर मायावती की इस बयान पर पलटवार करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चौकीदार के अलर्ट रहने से चोर बेचैन और असहज हो गए हैं. बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि भाजपा चुनाव हार रही है और हारने के बाद योगी चौकीदारी कर सकते हैं.

मायावती के ट्वीट का जवाब सीएम योगी ने पहले ट्वीट कर ही दिया, उन्होंने कहा, ‘एक योगी और सन्यासी होने के नाते मैं धर्म का चौकीदार हूं और प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में संविधान व जनता का चौकीदार हूं.

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने प्रदेश के संसाधनों में लूट खसोट मचाई थी, जिन्होंने उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार के नए कीर्तिमान स्थापित किये थे, चौकीदार के चौकन्ने होने से उन्हें अपार वेदना होगी यह देखा और समझा जा सकता है. प्रदेश की जनता ऐसे भ्रष्टाचारियों से अवश्य सचेत रहे.’

Back to top button