साउथ कोरिया के प्योंगचांग में विंटर ओलिंपिक में डोपिंग का तीसरा मामला सामने आया हे

साउथ कोरिया के प्योंगचांग में विंटर ओलिंपिक में डोपिंग का तीसरा मामला सामने आया हे

साउथ कोरिया के प्योंगचांग में विंटर ओलिंपिक में डोपिंग का तीसरा मामला सामने आया हे। स्लोवेनिया के आइस हाकी खिलाड़ी जिगा जेगलिक ड्रग परीक्षण में नाकाम रहे और उन्हें निलंबित कर दिया गया है। खेल पंचाट (सीएएस) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। इससे पहले कर्लिंग स्पर्धा में रूस के कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी और जापान के शॉर्ट ट्रैक स्पीड स्केटर को डोपिंग में नाकाम रहने के बाद ओलंपिक से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

फेनोटेरोल के उपयोग के लिए पाजीटिव पाए गए
सीएएस ने अपने बयान में कहा कि जेगलिक का परीक्षण प्रतिबंधित फेनोटेरोल के उपयोग के लिए पाजीटिव पाया गया और इसके बाद उन्हें 24 घंटे के अंदर खेल गांव छोडऩे के लिए कहा गया। फेनोटेरोल को सांस संबंधी बीमारी के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। सीएएस ने कहा जेगलिक ने डोपिंगरोधी नियमों के उल्लंघन को स्वीकार कर दिया है और उन्हें वर्तमान शीतकालीन ओलंपिक खेलों के बाकी मैचों से निलंबित कर दिया गया है।

Back to top button