ज्योतिष

साल का तीसरा चंद्र ग्रहण आज, तिकड़ी संकट का दे रही संकेत

ग्रहण अपने साथ शुभ या अशुभ संकेत लेकर आता है

नई दिल्ली: भारतीय समय के अनुसार यह उपच्छाया चंद्र ग्रहण 5 जुलाई की सुबह 8 बजकर 38 मिनट से शुरू हो जाएगा और 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म हो जाएगा. तिष शास्त्र की मानें तो हर ग्रहण अपने साथ शुभ या अशुभ संकेत लेकर आता है.

लेकिन इस बार ग्रहण की तिकड़ी संकट का संकेत दे रही है. एक ही महीने में सूर्य ग्रहण से पहले और बाद लगे चंद्र ग्रहण को ज्योतिष के जानकार अच्छा नहीं मान रहे हैं. आज के चंद्र ग्रहण को लेकर तरह-तरह की आशंकाएं जताई जा रही हैं.

5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण एक महीने के अंदर लगने वाला तीसरा ग्रहण है. इससे पहले 5 जून को चंद्र ग्रहण और 21 जून को सूर्य ग्रहण लगा था. अब 5 जुलाई को फिर चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है.

संकट की आशंका

ग्रहों की चाल पढ़ने वाले ज्योतिष के जानकार किसी संकट की आशंका ज़ाहिर कर रहे हैं. माना जा रहा है कि इस चंद्र ग्रहण के प्रभाव से प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ सकता है. चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 43 मिनट की होगी. ये उपछाया चंद्रग्रहण होगा जो भारत में दिखाई नहीं देगा और ना ही इसका सूतक माना जाएगा.

ज्योतिषियों के मुताबिक ये ग्रहण धनु राशि और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में लग रहा है. धनु राशि आक्रामकता की राशि है. इस ग्रहण की वजह से देश-दुनिया में युद्ध और विवादों जैसी स्थितियां पैदा हो सकती हैं.

चंद्र ग्रहण को टेलिस्‍कोप की मदद से देख सकते है. चंद्र ग्रहण को www.virtualtelescope.eu पर वर्चुअल टेलिस्‍कोप की मदद से देखा जा सकता है. इसके अलावा यूट्यूब चैनल CosmoSapiens, Slooh पर भी चंद्र ग्रहण लाइव देख सकते हैं.

गुरु पूर्णिमा के दिन (5 जुलाई 2020) उपछाया चंद्र ग्रहण लग रहा है. जो अमेरिका, दक्षिण-पश्चिम यूरोप और अफ्रीका के कुछ हिस्से में दिखाई देगा. भारत में चंद्र ग्रहण नहीं दिखाई देगा. ग्रहण काल में चंद्रमा कहीं से कटा हुआ होने की बजाय अपने पूरे आकार में नजर आएगा.

चंद्र ग्रहण के दौरान इन मंत्रों का करें जाप, दूर होगी अशुभता- 1-ॐ भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात् ॥ 2- ओम आज्यं सुराणामाहारमाज्यं पापहरं परम्। आज्यमध्ये मुखं दृष्ट्वा सर्वपापै: प्रमुच्यते।। 3- घृतं नाशयते व्याधिं घृतंच हरते रुजम्। घृतं तेजोधिकरंणं घृतमायु: प्रवद्र्धते।।

चंद्र ग्रहण आरंभ हो चुका है. चंद्र ग्रहण धनु राशि में लग रहा है. इसलिए धनु राशि वाले सावधान रहें. इस दौरान संयम और धैर्य से काम लें. क्रोध से बचें. भगवान स्मरण करें. घर से बाहर न निकलें. गर्भवती महिलाएं विशेष सावधानी बरतें.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button