ये क्या तीरधनुष लेकर छत पर चढ़ गया ये शख्स

गांववालों की मदद से करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद पकड़ा गया

बिलासपुर। जमीन विवाद पर एक आदिवासी ने दूसरे की हत्या कर दी, दूसरे दिन गांव वाले को डराने के लिए छत पर तीरधनुष लेकर छत पर चढ़ गया, जिसे गांववालों की मदद से करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद पकड़ा गया। बेलगहना चौकी प्रभारी अशोक शर्मा ने बताया कि बेलहना से करीब 8 किलामीटर दरी पर छतौना के बांधापारा में मयाराम पिता दुर्जन सिंह लौहार अपनी पत्नी राम बाई और 4 बच्चों के साथ निवास कर रहा था, उसके 4 में से 3 बच्चे अंधमूक और बाधिर हैं। मयाराम के घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर उसके पिता दुर्जन सिंह अपनी पत्नी के साथ रहते हैं।

15 साल पहले लौहार का काम करने वाले दुर्जन सिंह को गांव वालों ने बसाया था। वह जिस जमीन पर निवास कर रहा था, वहीं आरोपी अर्जून सिंह भैना के दैहान बनाकर रखा हुआ था, जमीन छिन जाने के कारण वह मयाराम के घर पंहुचा और उसकी पत्नी को सब्जी बनाने कहा रामबाई ने सब्जी बनाकर अर्जुन सिंह को दे दिया , इसके बाद वह घर से बाहर आकर मयाराम से गाली गलौज करते हुए उसकी पत्नी के साथ अभद्रता करने लगा, अर्जुन सिंह की बात सुनकर मयाराम ने दरवाजा बंद कर लिया ।

हंगामा करने के कुछ देर बाद अर्जुन सिंह वहीं झाड़ियों के बीच छिप गया, 10-15 मिनट बाद शांत माहौल देखकर मयाराम और उसकी पत्नी बाहर निकले , रामबाई अपने बच्चों को पीछे की ओर से लेकर अपने ससुर दुर्जन सिंह के घर पहुंची, इस दौरान मयाराम भी बाहर निकल आया जिसे देखकर झाड़ियों में छिपा आरोपी अर्जुन सिंह बाहर निकला और मयाराम पर लाठी से वार करना शुरू कर दिया ,लाठी के मार से मयाराम बेहोश हो गया और उसके शरीर से खून बहने लगा, मारने के बाद अर्जुन सिंह मयाराम का हाथ पकड़कर सड़क से 25 मीटर दूूर खेत पर ले गया और वहां भारी भरकम पत्थर उठाकर उसके चेहरे पर पटक दिया.

इसमें मयाराम की मौके पर मौत हो गई. शुक्रवार सुबह दुर्जन सिंह ने बेटे की लाश देखी, सूचना मिलतेे ही पुलिस मौके पर पहंुची और मयाराम की लाश को पोस्टमार्टम के लिए अस्पाताल भेज कर आरोपी को खेाजबीन शुरू कर दिया। आरोपी अर्जुन सिंह भैना अपने घर से तीरधनुष लेकर निकला और चाचा के घर तीसरी भी मंजिल की छत पर चढ़ गया. ग्रामीण तीरधनुष देख कर भयभीत हो गए , कुछ देर बाद पुलिस पहुंच गई , चारों ओर से रास्ते से तलाब की ओर भागने लगा जिसे पुलिस ने गामीणों के सहयोग से पकड़ लिया ।

Back to top button