ये है गंभीर का ‘दिल्ली डेयरडेविल्स’ की टीम में वापसी करने का खास मकसद

खुद पर गर्व महसूस करता हूँ कि मुझसे बचपन में क्रिकेट की सिख लेने वाले खिलाड़ी आईपीएल 2018 का हिस्सा होंगे

नई दिल्ली: आईपीएल शुरू होने में कुछ ही हफ्तों का समय रह गया है इस दौरान आईपीएल की सभी फ्रेंचाइजी अपने अपने टीम में कोई न कोई बदलाब कर रहे है। केकेआर को दो बार 2012 और 2014 में चैम्पियन बना चुके विस्फ़ोटक ओपनर गौतम गंभीर दिल्ली डेयरडेविल्स में वापसी कर रहे है। गंभीर का दिल्ली में वापसी करने का अहम कारण समने आया है। गंभीर (कप्तान), लेग स्पिनर अमित मिश्रा और भारत को हाल ही में अंडर-19 विश्व कप क्रिकेट विश्व कप जितवाने वाले मनजोत कालरा इस बार दिल्ली डेयरडेविल्स की 2018 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11 वें संस्करण में प्रतिनिधित्व करेंगे।

मेरे लिए गर्व की बात है मुझ से क्रिकेट की सिख लेने वाले दो खिलाड़ी 2018 के आईपीएल का हिस्सा होंगे

गौतम ने कहा, ‘मैं खुद को लकी मानता हूं और खुद पर गर्व महसूस करता हूं कि मुझसे बचपन में ही क्रिकेट की सिख लेने वाले मेरे दो खिलाड़ी इस बार 2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलेंगे। गंभीर ने केकेआर के लिए बतौर कप्तान और ओपनर तथा बतौर लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए आईपीएल के इतिहास के दूसरे और भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज के रूप में अपनी छाप छोड़ी। मनजोत कालरा ने अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत दिला चैंपियन बना अपनी चमक दिखाई। अपने अनुभव के साथ आईपीएल 11 में गंभीर और अमित मिश्रा दमदार प्रदर्शन कर राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को प्रभावित कर सकते हैं।

जिस टीम के साथ आईपीएल करियर की शुरुआत की थी उसी टीम के साथ विदाई करना चाहते हैं गंभीर

केकेआर टीम की तरफ से गंभीर ने खेलते हुए काफी नाम और पैसे कमाए है, लेकिन वह चाहते हैं उनकी विदाई भी उसी दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के साथ उसी शानदार ढंग से हो जिसके साथ उन्होंने आईपीएल में आगाज भी किया था। दिल्ली के 2018 में आईपीएल में सफर और उसकी खिताब जीतने की हसरत को हकीकत में तब्दील कराने गंभीर और लेग स्पिनर अमित मिश्रा का आईपीएल के लंबे अनुभव का रोल खासा अहम रहने वाला है। पहली बार आईपीएल में खेलने का मौका नवोदित मनजोत कालरा के लिए खुद की फ्रेंचाइजी टीम और आगे भारत के लिए दावेदारी पेश करने का मौका होगा।’

दिल्ली डेयरडेविल्स 2018 में अपने अभियान की शुरुआत नए कार्यक्रम के मुताबिक 8 अप्रैल को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ उसी के घर मोहाली में करेगी। पहले दिल्ली को अपना पहला मैच अपने घर में फिरोजशाह कोटला मैदान पर पंजाब के खिलाफ खेलना था।

गंभीर आईपीएल में शुरू के तीन संस्करणों में दिल्ली के लिए खेले और इसके बाद 2011 में केकेआर से जुड़ने के बाद 2017 तक उसके साथ रहे। गंभीर ने बल्ले से अनुकरणीय खेल दिखा कर केकेआर को दो बार चैंपियन बनाया। गंभीर आज भी दिल से दिल्ली क्रिकेट से जुड़े हैं क्योंकि उन्होंने क्रिकेट यहीं सीखी और यही उसे तराशा। अब वह दिल्ली का यह कर्ज उतारना चाहते हैं। गंभीर पैसे के लिए नहीं बल्कि दिल्ली डेयरडेविल्स की आइपीएल खिताब जितवाने की हसरत को पूरा कराने के लिए टीम में वापस लौटे हैं।

advt
Back to top button