ये है निपाह वायरस, कैसे बचें और किन बातों का रखें ध्यान

कोझिकोड । केरल के कोझिकोड जिले में निपाह वायरस की वजह से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। इस वायरस को बेहद खतरनाक बताया जा रहा है, जिसकी कोई दवा फिलहाल मौजूद नहीं है। हर कोई इस वायरस को लेकर चिंतित हैं।

क्या है निपाह वायरस : साल 1998 में पहली बार मलेशिया के कांपुंग सुंगई निपाह में इस वायरस के मामले सामने आए थे। इस वजह से इसका नाम निपाह वायरस दिया गया। वहां सुअरों को इस वायरस के वाहक के रूप में पाया गया था। इसके बाद सुअरों के संपर्क में आने के बाद बकरी, कुत्ते, बिल्ली, घोड़े और भेड़ जैसे घरेलू जानवरों में भी यह वायरस पाया गया था।

ये है परेशान होने की वजह : थोड़ा सा सतर्क रहने की जरूरत है। इस वायरस की फिलहाल कोई दवा बाजार में मौजूद नहीं है और यह इंसान से इंसान के संपर्क में आने पर फैलती है।

new jindal advt tree advt
Back to top button