छत्तीसगढ़बड़ी खबर

दुर्घटनाओं को आमंत्रित कर रहा है पीडब्ल्यूडी की यह सड़क

बरसों बाद सुध आई विभाग को,अभी भी सड़क पर खतरे ही खतरे

राज शार्दूल

कोण्डागांव : लोक निर्माण विभाग के द्वारा अमरावती व्हाया माकड़ी केशकाल मे कराए गए निर्माण कार्य मे अनेक लापरवाही उजागर हुई है। विभाग को कई बार अवगत कराने के बावजूद अधिकारियों की लापरवाही के चलते अभी तक सड़कों पर मामूली सा सुधार कार्य भी नहीं हो पाया है जबकि बारिश खत्म होने के बाद गड्ढे भरने एवं मरम्मत कार्य किये जाते हैं।

लापरवाही का आलम यह है कि सड़क पर चलने वाले लोगों को खतरों से जूझना पड़ रहा है। बारिश के पूर्व निर्माण किये गए पुलियों के दोनों तरफ मुरम नहीं डालने से अनेक लोग अब तक दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं। सर्वाधिक परेशानी मांरंगपुरी से माकड़ी के बीच हो रही है जहां पुलिया निर्माण हुए हैं ।

केशकाल से कोरगांव के बीच अधूरे निर्माण कार्य से दो से तीन साल से लोग परेशान हैं। पुलिया निर्माण का कार्य बारिश से पहले ही पूर्ण हो चुका है किंतु अब तक पीचिंग का कार्य नहीं हुआ। जिससे सड़क पर चलने वाले वाहनों को पुल से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना बनी रहती है।

पूर्व में भी हो चुकी हैं घटनाएं

क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग की लापरवाही के चलते कई गंभीर घटनाएं हो चुकी हैं। किंतु अब तक विभाग लापरवाह एवं असंवेदनशील दिख रहा है। निर्माण कार्य में लापरवाही के चलते अब तक दो लोगों की मौत हो। चुकी है वहीं कई लोग अब तक घायल हो चुके हैं।

तितरवन्ड में बन रहे पुलिया निर्माण में डायवर्सन मे सांकेतिक बोर्ड नहीं लगाया गया था जिसके चलते यहां छ: माह पूर्व एक शिक्षक की मौत हो गई थी। दूसरी घटना बासकोट में हुई जहां रोलर को बीच सड़क पर खड़ा कर दिया गया था जहां रात्रि में तेज गति से मोटरसाइकिल सवार के रोलर से टकराने से मौत हो गई।

अनेक लोगों ने विभाग के अधिकारियों को फोन पर सूचना दी थी कि यहां अगर रोलर नहीं हटाया गया तो कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है किंतु विभाग के अधिकारी आंखें मूंदे रहे। अंततः एक युवक की जान लेने के बाद विभाग को होश आया और दूसरे दिन रोलर हटाया गया। अब भी सड़क एवं पुलिया निर्माण में विभाग के द्वारा गंभीर लापरवाही बरती जा रही है।

सबसे ज्यादा परेशानी कार एवं मोटरसाइकिल के टकराने से होती है जहां पुल निर्माण के पश्चात मुरम नहीं भरे जाने से दोनों तरफ के गड्ढे में स्पीड से आ रहे वाहनों के टकराने की संभावना बनी है। कई छुटपुट घटनाएं हो चुकी हैं।

टेंडर लगने के बाद हो रहा है कार्य

लगभग 5 वर्ष के बाद विभाग को सुध आई और नया टेंडर लगाया गया है। इसके पश्चात अब निर्माण कार्य शुरू हुआ है। जहां बांसकोट एवं पलना के पास बने हुए पुल पर अप्रोच का कार्य शुरू किया गया है। विभागीय सूत्रों ने बताया कि यहां एप्रोच कार्य में डब्ल्यूबीएम के पश्चात सीसी सड़क बनाया जाएगा।

वह सड़क निर्माण में जहां छोटे-छोटे पुल पुलिया का निर्माण किया गया था वहां पर भी डामरीकरण का कार्य नहीं हो पाया था। उन कार्यों का भी टेंडर हुआ है। वहां अब डामरीकरण हो सकेगा पूर्व के ठेकेदार ने आधा अधूरा कार्य करके ही छोड़ दिया था।

बताया जा रहा है कि पूर्व में ठेकेदार ने आधा अधूरा कार्य छोड़कर पूरी रकम निकाल लिया था। विभाग के द्वारा सत्ता बदलने के बाद पूर्व ठेकेदार के अधूरे कार्य को पूरा करने के लिए पुनः टेंडर लगाया गया है।

विभाग के एसडीओ की गाड़ी भी फंसी थी

लोक निर्माण विभाग के एसडीओ आस्था राजपूत की गाड़ी भी इसी सड़क पर तितरवंड मे एप्रोच कार्य नहीं होने के चलते फंस चुकी थी। जहां काफी मशक्कत के बाद उनकी गाड़ी को निकाला जा सका। उसके पश्चात उनके द्वारा ठेकेदार को फोन करके तत्काल मरम्मत करने कहा गया। लेकिन ठेकेदार ने तब भी मामूली मरम्मत करके छोड़ दिया था। जिसका खामियाजा लोग अब तक भुगत रहे हैं।

निर्माण कार्य शुरू हो चुका है एसडीओ

लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी केशकाल आस्था मंडावी ने बताया कि केशकाल से अमरावती के बीच आधे अधूरे कार्यों का पुनः टेंडर लगाया गया है। यहां पर कार्य शुरू हो चुका है । हर्ष कंस्ट्रक्शन के द्वारा कार्य कराया जा रहा है। पुल पुलिया के निर्माण के पश्चात जहां एप्रोच कार्य एवं जहां डामरीकरण नहीं किया था वह कार्य भी किया जाएगा।

Tags
Back to top button