राजनीति

ओडिशा के इस शक्स ने ली राज्य मंत्री के तौर पर शपथ, तालियों की गड़गड़ाहट हुई तेज़

आठ हज़ार लोगों ने इस 64 साल के बुज़ुर्ग का ज़ोरदार तरीके से किया अभिवादन

नई दिल्ली: राष्ट्रपति भवन में गुरुवार शाम 7 बजे आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में मंत्रिमंडल पद की गोपनीयता बनाए रखने की शपथ लेते हुए ओडिशा के बालासोर से पहली बार सांसद चुनकर आए प्रताप चंद्र सारंगी ने 57 मंत्रियों के साथ मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल हुए.

उनके मंच पर आते ही तालियों की गड़गड़ाहट तेज़ हो गई. राष्ट्रपति भवन में मौजूद आठ हज़ार लोगों ने इस 64 साल के बुज़ुर्ग का ज़ोरदार तरीके से अभिवादन किया. साधारण कपड़े पहने, कमज़ोर से दिखने वाले, बाल बिखरे हुए और लंबी दाढ़ी वाले इस शख्स ने शादी नहीं की.

ये दूसरी बार था जब सारंगी सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे थे. हाल ही में ट्विटर पर उनकी एक तस्वीर काफी वायरल हुई जिसमें वो दिल्ली आने से पहले अपने साधारण से घर में एक साधारण से दिख रहे बैग में कुछ कपड़े रखते देखे गए.

ओडिशा में सारंगी एक सीधे-साधे विनम्र, स्वतंत्र विचारों वाले राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर पर जाने जाते हैं. सारंगी का जन्म नीलिगिरी से सटे गोपीनाथपुर गांव के एक गरीब परिवार में 4 जनवरी 1955 में हुआ. मोदी की तरह सारंगी भी युवावस्था में संन्यासी बनने की राह पर निकल पड़े थे.

सारंगी अविवाहित

एक बार एक टेलीविजन इंटरव्यू में सारंगी को पूछा गया था कि वह अविवाहित या ब्रह्मचारी हैं. उन्होंने तुरंत जवाब दिया अविवाहित लेकिन ब्रह्मचारी नहीं. इंटरव्यू में सारंगी ने बताया कि 28 साल की उम्र में वो आध्यात्म की ओर जाने के लिए बेलुड़ मठ के रामकृष्ण मिशन से जुड़ना चाहते थे. स्वामी आत्मस्थानंद से मिलने में भी वह सफल रहे, लेकिन उन्होंने सारंगी से पूछा लिया कि क्या उनपर कोई आश्रित है.

सारंगी ने उन्हें बताया कि उनकी एक बूढ़ी और विधवा मां हैं जो उनपर आश्रित हैं. इस पर स्वामी जी ने सुझाव दिया कि वह मां की देखभाल करें. इसके बाद सारंगी आजीवन अविवाहित रहे और पिछले साल उनकी मां के निधन होने तक उनकी देखभाल करते रहे.

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: