कादर खान की एक्टिंग से जुड़ी ये बात कर देगी आपको इंप्रेस

उन्होंने लेखन से लेकर अभिनय तक फिल्मों के लिए अलग अलग तरह के काम किए.

बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर कादर खान कनाडा के अस्पताल में भर्ती हैं. उन्हें BiPAP वेंटीलेटर पर रखा गया है.

पिछले कुछ दिनों से उनकी हेल्थ ठीक नहीं है. सोशल मीडिया पर तो एक्टर की सेहत से जुड़ी कई अफवाहें फैल रही हैं.

बार बार ऐसी खबरें आ रही हैं कि उनका निधन हो गया है. लेकिन उनके बेटे ने खबरों को झूठा बताते हुए कहा कि वे अस्पताल में भर्ती हैं.

1937 में अफगानिस्तान के काबुल में जन्मे कादर खान ने करीब 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है. उन्होंने लेखन से लेकर अभिनय तक फिल्मों के लिए अलग अलग तरह के काम किए.

कादर खान ने फिल्मी करियर में अलग-अलग भूमिकाएं निभाकर दर्शकों के दिलों पर राज किया. उन्हें नेगेटिव और कॉमिक दोनों ही रोल्स में पसंद किया गया. पिछले कुछ सालों से अस्वस्थ होने की वजह से उन्होंने फिल्मों से दूरी बना ली है.

कादर खान की फिल्मोग्राफी

कादर खान एक वर्सेटाइल एक्टर हैं. वे एक्टर होने के अलावा डायरेक्टर, स्क्रीन राइटर, कॉमेडियन भी हैं. उन्होंने 250 से ज्यादा फिल्मों में डायलॉग लिखे हैं.

उनकी डेब्यू फिल्म दाग थी. जो कि 1973 में रिलीज हुई थी. मूवी में कादर खान के अपोजिट राजेश खन्ना थे.
फिल्म रोटी (1974) के डायलॉग लिखने के लिए राजेश खन्ना और मनमोहन देसाई ने उन्हें 1.21 लाख रुपए की फीस दी थी, जो उस समय बहुत ज्यादा मानी जाती थी.

कादर खान ने अनाड़ी, बेनाम, सुहाग, मिस्टर नटवरलाल. अदालत, परवरिश, मुकद्दर का सिकंदर, नसीब, याराना, सनम तेरी कसम, हिम्मतवाला, सिक्का, हम, मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी, आंखें, साजन चले ससुराल, बाप नंबरी बेटी दस नंबरी जैसी फिल्मों में काम किया.

सिल्वर स्क्रीन पर कादर खान और गोविंदा की जोड़ी ने धमाल मचाया. दोनों ने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया.
इनमें दरिया दिल, राजा बाबू, कुली नंबर 1, छोटे सरकार, आंखें, तेरी पायल मेरे गीत, आंटी नंबर 1, हीरो नंबर 1, राजाजी, नसीब, दीवाना मैं दीवाना, दूल्हे राजा, अखियों से गोली मारे शामिल हैं.

जब कादर खान से इंप्रेस हुए दिलीप कुमार

कहते हैं कॉलेज में जब कादर खान एनुअल फंक्शन में परफॉर्म कर रहे थे. तब दिलीप कुमार उनकी अदाकारी से इंप्रेस हुए थे.

दिलीप साहब ने कादर खान को अपनी अगली फिल्म में साइन कर लिया. इसके बाद कादर खान का परिवार मायानगरी मुंबई आ गया.

कादर खान की स्कूलिंग

एक्टर ने इस्माइल यूसुफ कॉलेज से इंजीनियरिंग की और एमएच सैबू सिद्दिक कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में सिविल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर बने. कादर खान उर्दू शायरी पढ़ने लिखने के शौकीन हैं. वे तीन भाई हैं. कादर खान के दो बच्चे हैं.

new jindal advt tree advt
Back to top button