इस बार नाग पंचमी पर 108 साल बाद बन रहा है ये दुर्लभ संयोग, कालसर्प दोष की मुक्ति के लिए है सर्वोत्तम

Nag Panchami 2021: हिंदू धर्म में नाग पंचमी के त्योहार का विशेष महत्व रखता है. यह त्योहार विशेष रूप से उत्तर भारत में मनाया जाता है. इस दिन नाग देवता व सर्पों का पूजन किया जाता है. हिंदी पंचांग के अनुसार, नागपंचमी का पर्व हर साल सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को होता है. वर्ष 2021 में नाग पंचमी का त्योहार 13 अगस्त को पड़ रहा है.

धार्मिक मान्यता है कि नाग पंचमी के दिन भगवान श्री कृष्ण ने कालिया नाग का मान मर्दन किया और उसे यमुना नदी छोड़ कर समुद्र में जाने पर मजबूर कर दिया. इसी के शुभ अवसर पर नाग पंचमी का त्योहार मनाने की परंपरा शुरू हुई.

ज्योतिष गणना के अनुसार, इस साल यानी 13 अगस्त 2021 को पड़ने वाली नाग पंचमी पर करीब 108 साल बाद एक दुर्लभ संयोग बन रहा है. यह दुर्लभ संयोग नाग देवता का आशीर्वाद पाने और काल सर्प दोष से मुक्ति के लिए अति लाभदायक है.

नाग पंचमी पर करीब 108 साल बाद बन रहा है यह विशेष संयोग

ज्योतिष गणना के अनुसार, 13 अगस्त 2021 को पड़ने वाली नाग पंचमी के पावन पर्व पर इस बार उत्तरा योग और हस्त नक्षत्र का विशेष संयोग बन रहा है. साथ ही शिन नक्षत्र भी लग रहा है. यह शिन नक्षत्र काल सर्प दोष से मुक्ति के लिए विशिष्ट फलदायी होता है.

धार्मिक मान्यता है कि शिन नक्षत्र में काल सर्प दोष से मुक्ति के लिए की जानें वाली पूजा सबसे अधिक प्रभावशाली होती है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार नाग पंचमी पर ऐसा संयोग करीब 108 साल बाद बन रहा है. इस लिए इस बार की नाग पंचमी पर नाग देव की पूजा विशेष रूप से फलदायी होती.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button