छत्तीसगढ़

इस महिला का घर हो गया ’चोरी’, पुलिस में दर्ज कराई रिपोर्ट

बिलासपुर।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना की घोषणा की थी। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक देश के प्रत्येक नागरिक को अपना घर उपलब्ध कराना है। ऐसे में जब किसी लाभार्थी के नाम का घर आबंटित कर दिया जाए और लाभार्थी द्वारा दो किस्त भर दिया जाए बावजूद इसके घर न दिया जाए तब तो यही समझा जाएगा कि यह घर ही चोरी हो गया है।

बता दें कि बिलासपुर में एक ऐसी ही घटना सामने आई है, जहां एक महिला ने अपने घर के चोरी होने की शिकायत थाने में दर्ज कराई है। बिलासपुर में 60 वर्षीय एक महिला ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत उन्हें आवंटित घर नहीं देने का आरोप सरकारी अधिकारियों पर लगाया है।

महिला का कहना है, मेरा घर चोरी कर लिया गया है। मैं आवंटित हुए घर की दो किश्त भी दे चुकी हूं, लेकिन घर का कहीं अता-पता नहीं है। मैं मिट्टी से बनी झोंपड़ी में रहती थी, लेकिन हाल ही में वो ढह गई। अब मेरे पास रहने का कोई ठिकाना नहीं है। मैं पुलिस से जांच करवाने की मांग करती हूं।

गांव के सरपंच के प्रतिनिधि ने भी मामले में जांच की मांग की है। उन्होंने कहा, गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2018-19 में 72 घर आवंटित किए गए थे। इनमें से 71 बन गए, लेकिन एक घर लापता है। यही एक लापता घर इस महिला का है। हमने पुलिस से इस मामले में शिकायत की है। हम जानना चाहते हैं कि इस महिला का घर आखिर कहां गया। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
इस महिला का घर हो गया ’चोरी’, पुलिस में दर्ज कराई रिपोर्ट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags