कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मज़बूत इम्यून सिस्टम बनाने में मदद करता है ये योगासन

वायरल संक्रमण खराब प्रतिरोधक प्रणाली के सबसे गंभीर कारणों में से एक

कोरोना काल में इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाना जरूरी हो गया है। ऐसे लोग जिनकी इम्यून पावर कमजोर है, उन्हें संक्रमण का खतरा अधिक होता है। इसका कारण यह है कि इम्यून पावर कम होने से शरीर रोगों से लड़ने की क्षमता खो देता है।

एंटीबायोटिक्स या अन्य दवाएं शरीर को बीमारी से उबरने में मदद करती हैं, लेकिन इम्यूनिटी शरीर में सुधार करने का काम करती है। ऐसे समय में योग, शायद सबसे प्रभावी और प्राकृतिक तरीके से इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

योग को हम स्वस्थ जीवन के लिए अपना सकते हैं। यह एक प्राचीन कला है, जो शरीर को मज़बूत करती है और मन को भी शांति पहुंचाती है। आइए जानें कुछ आसान योग आसन, जो कोरोना वायरस से लड़ने के लिए आपको एक मज़बूत इम्यून सिस्टम बनाने में मदद कर सकते हैं।

प्राणायाम

प्राणायाम एक सांस लेने की तकनीक है। वायरल संक्रमण खराब प्रतिरोधक प्रणाली के सबसे गंभीर कारणों में से एक है। प्राणायाम यानी श्वास तकनीक आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। प्राणायाम के माध्यम से हम अपनी सांसों को नियंत्रित तरीके से छोड़ते हैं। जिससे हमारे पूरे शरीर की प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।

अधो मुख श्वानासन

अधो मुख श्वानासन में शरीर को ऊपर की ओर उलटे अंग्रेजी शब्द “V” आकार की स्थिति में ले जाया जाता है। इस आसन के कई अद्भुत लाभ हैं, इसलिए इसका अभ्यास रोज़ाना करना चाहिए। यह आसान पूरे शरीर को गर्म करता है, जिसे शरीर में ऊर्जा पैदा होती है।

अधो मुख श्वानासन मुद्रा रक्त को सिर और मस्तिष्क की ओर प्रवाहित करने में मदद करता है। अधो मुख श्वानासन साइनस संक्रमण को खत्म करने का एक शानदार तरीका है, जो सर्दी के कारण होने वाले किसी भी दबाव से राहत दिलाता है।

सेतुबंधासन

यह आसन हमारी छाती के साथ थाइमस को भी खोलता है, टी-कोशिकाओं के विकास के लिए जिम्मेदार एक अंग, जो प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करने और संक्रमण से लड़ने के लिए आवश्यक सफेद रक्त कोशिका का एक प्रकार है।

सुप्त मत्स्येन्द्रासन

इसे एक डिटॉक्स पोज़ माना जाता है, जो स्पाइनल ट्विस्ट को बारी-बारी से शेक करता है और धड़ को स्ट्रेच करता है, जिससे पेट, किडनी, आंतों में सर्कुलेशन बढ़ता है, जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त होती है।

भुजंगासन

भुजंगासन एक छाती खोलने वाली मुद्रा है, जो शरीर की प्रतिरक्षा में सुधार करने वाली सफेद कोशिकाओं को छोड़ने में मदद करता है। यह शक्तिशाली मुद्रा आपके पाचन अंगों को दुरुस्त करेगा। जिससे भोजन के ज़रिए अधिक पोषण लाभ प्राप्त करने में मदद मिलेगी और आपके इम्यून सिस्टम को इंधन मिलेगा।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button