व्हीलचेयर से एवरेस्ट पर पहुंचा ये युवक..

समुद्र तल से 5364 मीटर ऊपर स्थित शिविर तक पहुंचा

काठमांडो : आज के समय में एक तंदरुस्त व्यक्ति भी कुछ दूर चल कर थक जाता है। पर ऑस्ट्रेलिया में लकवाग्रस्त एक व्यक्ति ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिस आप सुन कर आश्चर्य में पढ़ जायेंगे, जी हाँ ऑस्ट्रलिया का एक निवासी लकवाग्रस्त होने के बावजूद दुनिया की सबसे ऊँची पर्वत चोटी एवरेस्ट के आधार शिविर तक पहुंच गया। उनका कहना है कि उसे ख़ुशी है कि इस चुनौतीपूर्ण यात्रा को लगभग बिना किसी सहायता के पूरी करने वाला वह पहला ‘पैराप्लेजिक’ व्यक्ति है। स्कॉट डूलान जिनकी उम्र 28 वर्ष है उन्हों ने इस स्थान तक पहुँचने में 10 दिन का समय लिया।

डूलान रविवार को समुद्र तल से 5364 मीटर ऊपर स्थित इस शिविर तक पहुंचा। उसने आधार शिविर पहुंचने वाले क्षण के बारे में कहा, ‘‘मुझे उस समय सांस लेने में तकलीफ हो रही थी क्योंकि मैं अपने हाथों से चल रहा था लेकिन मुझे केवल करीब बीस लोगों की भीड़ को देखना याद है। जैसे ही मैं वहां पहुंचा उन्होंने उत्साह बढाना शुरू किया और मैं बहुत अभिभूत हुआ।’’ डूलान ने हाथों की मदद से चलकर यह सफर तय किया और पर्वतारोहण में उसने पांच जोड़ी दस्तानों का प्रयोग किया।

advt
Back to top button