राष्ट्रीय

राहुल को जेटली का जवाब: घोटालों के आदी रहे लोगों को वैधानिक कर से आपत्ति

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ के रूप में वर्णित करने को लेकर मंगलवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष पर पलटवार किया और कहा कि 2जी स्पेक्ट्रम और कोयला खान आवंटन में हुए विशाल घोटालों के आदी रहे लोगों को वैधानिक कर से आपत्ति है. उन्होंने आठ नवंबर को ‘काला दिवस’ मनाने के विपक्षी दलों के निर्णय की भी आलोचना करते हुए कहा कि इससे नकदी अर्थव्यवस्था को लेकर उनकी आस्था के बारे में पता चलता है.

जेटली ने अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर बुलाये गये संवाददाता सम्मेलन में कहा, “2जी एवं कोयला ब्लाक (आवंटन) घोटालों के आदि लोगों को वैधानिक कर से आपत्ति होने लगी.” एक दर्जन से अधिक केंद्रीय एवं राज्य करों को जोड़कर बनाये गये जीएसटी को सरकार ने ऐतिहासिक सुधार बताया है जिससे न केवल आर्थिक विकास को प्रोत्साहन मिलेगा बल्कि कर चोरी भी रूकेगी. नोटबंदी के एक साल पूरा होने के अवसर पर विभिन्न विपक्षी दलों द्वारा आठ नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाये जाने के निर्णय के बारे में पूछने पर जेटली ने बताया कि सरकार कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था पर बल देती रहेगी.

वित्त मंत्री ने कहा, “वे निश्चित तौर पर ऐसा कर सकते हैं. इस प्रकार के जश्न में नकद अर्थव्यवस्था के प्रति उनके विश्वास का भी प्रदर्शन होगा.” उन्होंने यह भी कहा, “सरकार इसे लेकर बहुत स्पष्ट है कि कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था होनी चाहिए (किन्तु) विपक्ष महसूस करता है कि नकदी वाली अर्थव्यवस्था बड़ी होनी चाहिए.”

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.