राष्ट्रीय

जो एनआरसी में नहीं हैं, वे भारत में नहीं रहेंगे : राम माधव

सर्वानंद सोनोवाल बोले- एनआरसी को पूरे भारत में लागू किया जाए

दिसपुर : भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की अंतिम सूची में शामिल नहीं किए जाने वाले लोगों का मताधिकार छीन लिया जाएगा और उन्हें वापस उनके देश भेज दिया जाएगा। इस बीच, भाजपा के ही नेता और असम के मुख्यमंत्री सवार्नंद सोनोवाल ने कहा कि एनआरसी को पूरे भारत में लागू किया जाए।

एनआरसी: डिफेंडिंग दि बॉर्डर्स, सेक्यूरिंग दि कल्चर विषय पर एक सेमिनार को संबोधित करते हुए सोनोवाल ने कहा कि भारत के वाजिब नागरिकों को अपनी नागरिकता साबित करने और एनआरसी की अंतिम सूची में अपना नाम शामिल कराने के लिए पर्याप्त अवसर दिया जाएगा।

रामभाऊ म्हलगी प्रबोधिनी नाम के थिंक-टैंक की ओर से आयोजित सेमिनार में सोनोवाल ने कहा, एनआरसी सभी राज्यों में लागू की जानी चाहिए। यह ऐसा दस्तावेज है जो सभी भारतीयों का संरक्षण कर सकता है।

असम में एनआरसी में शामिल नहीं किए जाने वाले लोग अन्य राज्यों में जा सकते हैं। इसलिए हमें ठोस कदम उठाना होगा। असम में रह रहे वास्तविक भारतीय नागरिकों की पहचान के लिए उच्चतम न्यायालय के आदेश पर अद्यतन की जा रही एनआरसी की 30 जुलाई को प्रकाशित मसौदा सूची में 40 लाख से ज्यादा लोगों के नाम शामिल नहीं किए गए जिससे राजनीतिक विवाद पैदा हो गया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
जो एनआरसी में नहीं हैं, वे भारत में नहीं रहेंगे : राम माधव
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags