अंतर्राष्ट्रीय

गैटविक हवाईअड्डे पर दुसरे दिन भी फसे हजारों लोग, सेना को बुलाया

पुलिस को अभी तक ड्रोन चलाने वाले का पता नहीं चला

लंदन: ब्रिटेन के सबसे व्यस्त गैटविक हवाईअड्डे पर शुक्रवार देर रात एक बार फिर से ड्रोन मंडराते नजर आए जिसके चलते विमानों का परिचालन रोका गया. हवाईअड्डे पर विमानों का परिचालन बहाल होने पर ब्रिटेन के परिवहन मंत्री क्रिस ग्रैलिन ने कहा कि इस घटना के आतंकवाद से संबंध होने के कोई सबूत नहीं है.

क्रिसमस की छुट्टियों के वक्त हवाईअड्डे पर ड्रोन मंडराते देखे जाने के बाद पैदा हुए अभूतपूर्व संकट से निपटने के लिए सेना को बुलाया गया है. दरअसल ब्रिटेन के दूसरे सबसे व्यस्त गैटविक हवाईअड्डे पर अब भी शुक्रवार को दूसरे दिन हजारों लोग फंसे हुए हैं.

बीबीसी ने बताया कि गुरुवार रात तक 120,000 लोगों ने अपनी यात्रा रद्द कराई. गैटविक अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को 765 विमानों के प्रस्थान करने और यहां पहुंचने का कार्यक्रम है. गैटविक के चीफ ऑपरेटिंग अधिकारी क्रिस वुडरुफे ने बताया कि पुलिस को अभी तक ड्रोन चलाने वाले का पता नहीं चला है.

पुलिस ने कहा कि ऐसी संभावना है कि वे पर्यावरण कार्यकर्ता हैं. उन्होंने बताया कि सरकार और सेना की ओर से उठाए गए अतिरिक्त गंभीर कदमों ने उनमें हवाईअड्डे को फिर से खोलने का भरोसा कायम किया.

मीडिया खबरों के अनुसार, हवाईअड्डे के शनिवार तक ‘सामान्य’ परिचालन की उम्मीद है. ब्रिटेन के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि विषम परिस्थितियों के कारण यात्री मुआवजा पाने के पात्र नहीं हैं.

गौरतलब है कि ड्रोन और एक विमान के बीच टक्कर होने की आशंका के चलते अधिकारियों को गैटविक हवाईअड्डे पर सभी उड़ानों का परिचालन रोकना पड़ा था। यह यात्रियों की संख्या के लिहाज से ब्रिटेन का दूसरा सबसे व्यस्त हवाईअड्डा है.

सबसे पहले बुधवार शाम को ड्रोन मंडराते हुए देखे गए थे. ब्रिटिश सेना ड्रोन उड़ाने में संलिप्त रहे लोगों की तलाश में पुलिस तथा विमानन अधिकारियों की सहायता कर रही है.

Tags
Back to top button