अलग-अलग पेट्रोल पम्पों से की दस करोड़ की ठगी, पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी

क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्यवाही

– ऋषिकेश मुखर्जी

रायगढ़: छत्तीसगढ़ व ओडिशा प्रदेश के अलग-अलग जिले के पेट्रोल पंप में डीजल की खरीदी कर संचालकों के साथ करोड़ों की ठगी करने वाले महाठगबाज को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले में आरोपी से तीन लाख नकद रुपए भी बरामद किए गए हैं। आरोपी के खिलाफ अपराध कायम कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस कांट्रोल रूम में मामले का खुलासा करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर ने बताया कि सरिया में रहने वाला संजय अग्रवाल व उसका साथी खरसिया थाना क्षेत्र के ग्राम डूमरपाली निवासी यशवंत डनसेना उर्फ बीडीओ पिता सालिकराम डनसेना छत्तीसगढ़ व ओड़िसा के अलग-अलग जिले के पेट्रोल पंप में पहुंच कर डीजल की खरीदी करते थे। इसके बाद उन्हें चेक देकर ठगी की घटना को अंजाम देते थे। ऐसा करते हुए उन्होंने ओड़िसा के झारझुगुड़ा, बरगढ़, छत्तीसगढ़ के कोरबा सहित 15 जगह के अलग-अलग पेट्रोल पंप में फर्जी चेक देकर पंप संचालकों को ठगी का शिकार बनाया।

जब मामले की शिकायत हुई तो अप्रैल माह में संजय अग्रवाल को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके बाद लगातार उसके साथी यशवंत की तालाश की जा रही थी। तभी क्राइम ब्रांच प्रभारी गौरीशंकर दुबे को मुखबिर से यशवंत के संबंध में जानकारी मिली। तब योजनाबद्ध तरीके से यशवंत को गिरफ्तार किया गया और उसके पास से नकद तीन लाख रुपए बरामद किया गया। पुलिस ने बताया कि करीब एक करोड़ का ठगी की घटना को अंजाम दिया गया है।

यहां की ठगी
रायगढ़ जिले के भी कई पेट्रोल पंप में इसने ठगी की घटना को अंजाम दिया। जिसमें ऐडु स्थित विनायक पेट्रोल पंप, छाल स्थित बालाजी पेट्रोल पंप, गेरवानी स्थित हर्ष पेट्रोल पंप, तराईमाल स्थित पेट्रोल पंप, घरघोड़ा स्थित पेट्रोल पंप, खरसिया स्थित पेट्रोल पंप, घरघोड़ा के गोमती पेट्रोल पंप, झारसुगुड़ा के सरदार पेट्रोल पंप, रेगाली जिला के कनकतुरा पेट्रोल पंप, सीपत के कृषि केन्द्र पेट्रोल पंप सहित कोरबा के पेट्रोल पंप में इसने संचालकों को ठगी का शिकार बनाया था।

Back to top button