राष्ट्रीय

बांग्लादेशी तस्करों के हमले में बीएसएफ के तीन जवान जख्मी

बीएसएफ कर्मियों ने गैर घातक बंदूकों का इस्तेमाल किया

कोलकाताःपश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में बीएसएफ की बांसघाटा चौकी के पास तीन-चार जुलाई की दरम्यानी रात बांग्लादेशी तस्करों के हमले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के तीन जवान जख्मी हो गए. बीएसएफ कर्मियों ने गैर घातक बंदूकों का इस्तेमाल किया, जिसके बाद तस्कर भाग गए.

बीएसएफ टीम को घेरकर की मारपीट

अधिकारियों के मुताबिक, बीएसएफ की 107वीं बटालियन के जवान सीमावर्ती इलाके में थे, तभी रात के अंधेरे में (करीब साढे तीन बजे) 10-12 बांग्लादेशी तस्कर दिखे तो बीएसएफ के जवानों ने उन्हें ललकारा.

बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तस्करों ने बीएसएफ दल को घेर लिया और जवानों पर बांस के डंडों और तेज धारदार हथियारों से बर्बर हमला किया. उन्होंने बताया कि इस हमले में तीन जवान जख्मी हो गए.

आत्मरक्षा में चलाई गैर घातक बंदूक

अधिकारी ने बताया कि कर्मियों ने गैर घातक पंप एक्शन बंदूक से आत्मरक्षा में पांच गोलियां चलाईं जिसके बाद तस्कर बांग्लादेश की तरफ भाग गए. उन्होंने बताया कि घटनास्थल से आठ किलोग्राम गांजा जब्त किया गया है, जो एक पैकेट में था.

अधिकारी ने बताया कि समझा जाता है कि बीएसएफ जवानों की गोलाबारी में एक या दो हमलावर जख्मी हुए हैं.

भारत-बांग्लादेश सीमा पर अक्सर तस्करी के प्रयास होते रहते हैं और इसके कारण बीएसएफ जवान और तस्कर कई बार आमने-सामने आ जाते हैं. शुक्रवार को ही बीएसएफ जवानों ने मालदा में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी

की कोशिश को नाकाम किया था और एक आदमी को कफ सिरप की बोतलों के साथ गिरफ्तार किया था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button