परिवर्तनकारी धान प्रजनन’’ पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला आज से


रायपुर.
इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर एवं अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान मनीला फिलिपींस के संयुक्त तत्वावधान में 19 से 21 अक्टूबर तक परिवर्ततनकारी चावल प्रजनन (ट्रान्सफाॅर्मेटिव राईस ब्रीडिंग) पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला का शुभारंभ छत्तीसगढ़ की राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके द्वारा कल 19 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे किया जाएगा। कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चैाबे की अध्यक्षता में आयोजित शुभारंभ समारोह में धरसींवा विधायक श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा, मुख्यमंत्री के कृषि सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. एस.के. पाटील विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।

जलवायु परिवर्तन के खतरे का सामना करने और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए चावल प्रजनन कार्यक्रम के आधुनिकिकरण के वैश्विक कार्यक्रम ‘‘ट्रान्सफाॅर्मेटिव राईस ब्रीडिंग’’ के अंतर्गत आयोजित इस अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला में केन्या, युगान्ड़ा, घाना, तंजानिया, मोजाम्बिक, बांग्लादेश और फिलिपींस देशों के कृषि वैज्ञानिक शामिल होंगे। इस अवसर पर भारतीय डाक विभाग द्वारा ट्रन्सफाॅर्मेटिव राईस ब्रीडिंग पर जारी विशेष आवरण का विमोचन भी किया जाएगा।

राज्यपाल सुश्री उइके करेंगी कार्यशाला का शुभारंभ,देश-विदेश के अनेक चावल वैज्ञानिक शामिल होंगे

Back to top button