तीन दिवसीय मानस ज्ञान प्रतियोगिता का शुभारंभ

- दीपक वर्मा

राजिम: समीपस्थ ग्राम धमनी में तीन दिवसीय मानस ज्ञान प्रतियोगिता का शुभारंभ जिला पंचायत सदस्य पुष्पा जगन्नाथ साहू के मुख्य आतिथ्य एवं रामकली ध्रुव सरपंच ग्राम पंचायत धमनी की अध्यक्षता में संपन्न हुआ संचालक गोविंद तारक ने बताया कि यह प्रतियोगिता 3 दिनों तक चलेगा.

जिसमें 24 तीन भाग लेंगे प्रतियोगिता में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले टीम को नगद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा शामिल होने वाले सभी टीमों को सांत्वना पुरस्कार भी देने की व्यवस्था है.

मानस गान सुनने वाले भक्तजनों के लिए 3 दिनों तक भोजन प्रसादी की व्यवस्था है मुख्य अतिथि उसपा जगन्नाथ राहों में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज टीवी सिनेमा मोबाइल के युग में रामचरितमानस गान का आयोजन एक अनुकरणीय कदम है रामचरितमानस एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें ज्ञान विज्ञान कृषि सामाजिक समरसता आपसी भाईचारा राष्ट्रीयता देश भक्ति माता पिता के प्रति प्रेम परिवार के प्रति प्रेम समाज के प्रति भलाई की भावना की शिक्षा मिलती है.

उन्होंने आगे कहा कि देश है तो परिवार है समाज है गांव है पता अभी 18 अप्रैल को लोकसभा चुनाव में आप सब अपनी सभी कामों को छोड़कर मतदान करने अनिवार्य रूप से जाना एवं इस तीन दिवसीय मानस प्रतियोगिता में प्रतिदिन सुनने के लिए आना एवं उनके द्वारा बताए गए अच्छी बातों को अनुकरण कर अपने जीवन में उतारना तभी इस कार्यक्रम की सार्थकता है.

आभार व्यक्त करते हुए शिक्षक प्रफुल्ल दवे ने कहानी तुलसीदास जी ने ऐसे विषम परिस्थितियों में रामचरितमानस की रचना किए जो आज भारत ही नहीं वरन पूरे विश्व के लिए एक अनुकरणीय ग्रंथ सिद्ध हुए हैं रामचरितमानस में माता पिता भाई बहन पिता-पुत्र मित्र के बीच कैसे आपसी प्रेम भावना होना चाहिए इसकी शिक्षा मिलती है.

एक राजा प्रजा के प्रति किया कर्तव्य होना चाहिए एवं प्रजा को राजा की आदेशों का पालन कैसे करना चाहिए इसका ज्ञान हमें रामचरितमानस को पढ़ने से अच्छी तरह से मिलता है अतः हमें प्रतिदिन रामचरितमानस का पठन करना चाहिए.

कार्यक्रम में मुख्य रूप से रामानंद रूम दिलीप साहू मिथिला साहू जामा सालीक तारक कृष्णा दास मानिकपुरी रघुनाथ साहू सेवक सतनामी कांति साहू राम बिहारी पटेल ईश्वरी कनोजे विश्राम तारक बिसाऊ पार्क लाला तारक जनिया तारक बहुरा साहू विष्णु साहू भूपेंद्र साहू गोपाला साहू चंद्रिका साहू खोज बौहरा डिमर के अलावा करो ग्रामीण जनता उपस्थित थे.

1
Back to top button