छत्तीसगढ़

आज से राजधानी रायपुर में तीन दिवसीय राज्योत्सव का शुभारंभ

सोनिया गांधी शाम सात बजे करेंगी राज्योत्सव 2019 का शुभारंभ

रायपुर: छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण की 20वीं वर्षगांठ पर आज नवम्बर को राजधानी रायपुर में तीन दिवसीय राज्योत्सव का शुभारंभ होगा. आयोजन यहां रायपुर स्थित साइंस कालेज मैदान में किया जाएगा. कांग्रेस की अन्तरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी शाम सात बजे राज्योत्सव 2019 का शुभारंभ करेंगी. आयोजन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल होंगे राज्योत्सव के समापन समारोह के मुख्य अतिथि

आयोजन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. समापन समारोह तीन नवम्बर को रात्रि 7.30 बजे आयोजित किया जाएगा. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्योत्सव के समापन समारोह के मुख्य अतिथि होंगे. राज्योत्सव के तीन दिवसीय आयोजन में प्रतिदिन शाम 6 बजे से प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ के जम्मो मनखे मन ला “छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस” के गाड़ा-गाड़ा बधाई। छत्तीसगढ़ के संगे-संग, हमर देस बिकास के नवा-नवा कीर्तिमान रचय, एखर बर मोर डहर ले अब्बड़ सुभकामना — राष्ट्रपति कोविन्द

मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक नवम्बर को छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण की 20वीं वर्षगाठ पर सभी लोगों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने राज्य स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी बधाई संदेश में कहा है कि यह एक यादगार और ऐतिहासिक दिन है.

मध्य प्रदेश से बनाया गया यह राज्य भारतीय संघ के 26 वें राज्य के रूप में 1 नवंबर, 2000 को पूर्ण अस्तित्व में आया. इससे पूर्व छत्तीसगढ़ 44 वर्ष तक मध्य प्रदेश का एक अंग रहा था. प्राचीन काल में इस क्षेत्र को ‘दक्षिण कोशल’ के नाम से जाना जाता था. इस क्षेत्र का उल्लेख रामायण और महाभारत में भी मिलता है.

छठी और बारहवीं शताब्दियों के बीच सरभपूरिया, पांडुवंशी, सोमवंशी, कलचुरी और नागवंशी शासकों ने इस क्षेत्र पर शासन किया. कलचुरी और नागावंशी शासकों ने इस क्षेत्र पर लम्बे समय तक शासन किया.

कलचुरियों ने छत्तीसगढ़ पर सन् 980 से लेकर 1791 तक राज किया. सन् 1854 में अंग्रेज़ों के आक्रमण के बाद महत्त्व बढ़ गया सन् 1904 में संबलपुर उड़ीसा में चला गया और ‘सरगुजा’ रियासत बंगाल से छत्तीसगढ़ के पास आ गई.

Tags
Back to top button