शराब पीने पर युवकों को तालीबानी सजा, जूतों की माला पहनाकर निकाला जुलूस

मध्यप्रदेश के शिवपुरी में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसको सुनकर आपको हैरत हो सकती है। इलाके में मौजूद खरगैह गांव में तीन आदिवासियों का सिर मुंडवाकर उन्हें जूतों की माला पहनाकर जुलूस निकाला गया।

इन आदिवासी युवकों का जुर्म था कि वो शराब पीकर घर आए थे। युवकों की इस हरकत पर उनकी पत्नियों ने पंचायत में शिकायत कर दी, जिसके बाद सजा के तौर पर इन युवकों का सरेआम सिर मुंडाया गया। उसके बाद गले में जूतों की माला पहनाकर उन्हें गांव में घुमाया गया। इस जुलूस में उनकी पत्नियां भी शामिल थीं।

दरअसल इलाके में शराबबंदी को लेकर कई संगठन काम कर रहे हैं। ऐसे ही एक संगठन ने पिछले दिनों 14-15 गांवों की शराबबंदी को लेकर पंचायत बुलाई थी। जिसमें फैसला किया गया कि आदिवासी शराब नहीं पिएंगे।

अगर वो ऐसा करते हैं तो उन पर 11 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। युवकों ने जब शराब पी तो इन पर जुर्माना लगाया गया और ऐसा न कर पाने की स्थिति में इस तरह की हरकत को अंजाम दिया गया। इस मामले पर पुलिस प्रशासन ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

advt
Back to top button