किसानों के लिए बने तीन से चार अस्थायी ढांचे आग लगने से क्षतिग्रस्त

सान नेता बलदेव सिंह सिरसा ने आरोप लगाया कि यह साजिश है और किसी ने जानबूझकर आग लगाई

नई दिल्ली:हरियाणा के कुंडली में केंद्र के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन कर रहे किसानों के लिए बने तीन से चार अस्थाई ढांचे आग लगने से क्षतिग्रस्त हो गए.

दमकल विभाग के अधिकारी ने बताया कि आग लगने की वजह का पता लगाया जा रहा है. हालांकि, किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा ने आरोप लगाया कि यह साजिश है और किसी ने जानबूझकर आग लगाई.

किसान नेता बलदेव सिंह ने दावा किया है कि कुछ किसानों ने एक व्यक्ति को भागते हुए देखा. वहीं, पुलिस अधिकारी का कहना है कि किसानों के दावों की जांच की जा रही है. जल्द ही मामले की पूरी तरह जांच पड़ताल करके इसका पता लगा लिया जाएगा. घटना में अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

लगातार विरोध कर रहे किसान

किसान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को चारों तरफ से घेरकर बैठे हैं. कोरोना संक्रमण के बीच भी वह लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ अपना आंदोलन चलाए हुए हैं. वहीं, सरकार का कहना है कि सिंघु और टीकरी बार्डर पर बैठे इन किसानों को आंदोलन खत्म करने के लिए सरकार पहले प्यार से समझाएगी. अगर किसान अपनी जिद पर अड़े रहे और आंदोलन स्थल से नहीं हटे तो उन्हें अर्धसैनिक बलों और पुलिस की मदद से हटाया जाएगा.

गृह मंत्रालय किसानों को बटाने के लिए तैयार

गृह मंत्रालय ने इन किसानों को धरने से हटाने की रूपरेखा तैयार कर ली है. इसके लिए हरियाणा सरकार को अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच किसानों के इस आंदोलन के खिलाफ जल्द ही सख्त रुख अपनाया जाएगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button