फिरौती लेने के चक्कर में तीन युवकों ने ली 14 वर्षिय बालक की जान

उक्त घटना के बाद चौक-चौराहों पर तरह-तरह की चर्चाओं का दौर चल रहा है

– पृथ्वीलाल केशरी

रामानुजगंज : तीनदोस्तों ने फिरौती की रकम लेने के चक्कर में एक 14 वर्षीय बालक की अपहरण की और उसे जंगल में ले गए आपस में चर्चा ही कर रहे थे कि बालक ने सुन लिया और उसने कहां की मेरे घर को छोड़ दो नहीं तो ठीक नहीं होगा इस पर उन्होंने उसका मुंह दबाने का प्रयास किया।

बालक ने मजबूती से इन लोगों का मुकाबला किया इन लोगों ने जब देखा कि अब पोल खुल जाएगा तो आफत में आ जाएंगे इसके कारण इन तीनों ने गमछे से बालक को गला दबा कर मार डाला और मौके से फरार हो गए।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इजहान अकरम सिद्धकी पिता आलिम सिद्धकी उम्र 14 साल निवासी वार्ड क्रमांक 2 पेट्रोल पंप रोड हर दिन की भांति 4 नवंबर को स्कूल पढ़ने गया था इज़हान कक्षा आठवीं का छात्र था प्रतिदिन स्कूल से छुट्टी होने के बाद अपने पिता से मिलकर ही घर जाया करता था ।

इजहार के पिता लरंगसाय चौक पर डायनेमो मिस्त्री का काम करते हैं अपने पुत्र का राह देखते पिता ने आसपास के लोगों से चर्चा करने लगा कि अभी तक मेरा लड़का स्कूल से क्यों नहीं आया इतने में अपनी पत्नी से फोन लगाकर पूछा कि जहांन घर पहुंचा है उसके पत्नी ने कहा कि नहीं तब उसने चारों और छानबीन करना शुरू किया निराश पिता के हाथ कुछ नहीं लगा।

फिर तत्काल पुलिस थाने पहुंचकर आपबीती पुलिस को सुनाई पुलिस अपने तरीके से छानबीन में जुट गई इसके बाद भी समय बीतता गया और प्रत्यक्षदर्शियों से पता चला कि साहिल बारी,राजा खान, शमशेर खान सभी की उम्र 18 साल से 20 साल के लगभग की है के साथ देखा गया है।

पुलिस ने तत्काल इन तीनों युवकों को पूछताछ करने के लिए थाने बुलाया पूछताछ के दौरान इन्होंने कबूल किया कि पैसे के चक्कर में स्कूल से छुट्टी होने के बाद हम लोग इसे घर छोड़ने के बहाने गाड़ी में बैठा कर जंगल में ले गए थे वहां पर हम लोग फिरौती के संबंध में बात कर ही रहे थे इतने में बालक ने सुन लिया और घर छोड़ने की जिद करने लगा हम लोग डर गए और गला दबाकर इसकी हत्या कर दी।

पुलिस आज सुबह घटनास्थल पर अनुविभागीय अधिकारी पुलिस नितेश कुमार गौतम थाना प्रभारी भारद्वाज सिंह एएसआई राजकुमार साहू मनोज सिंह रमेश रमेश टोप्पो आरक्षकों में राकेश तिवारी अंकित पांडे विश्राम कुजूर रंजीत प्रजापति सुनील रजक ऋषभ सिंह सहित अन्य पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे वहां से लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

पुलिस लाश को परिजनों को सौंप दी हैं। इजहान के माता पिता का रो रो कर बुरा हाल है इजहान के दो बहन एवं एक भाई को रोता विलकता छोड़ गया। उक्त घटना के बाद नगर के चौक-चौराहों पर तरह-तरह की चर्चाओं का दौर चल रहा है जिसके जुबान से सुनो तो एक ही बात सुनने को मिल रही हैं।

Tags
Back to top button