छत्तीसगढ़

विज्ञान के जरिए अपने हर सपने को पूरा किया जा सकता है

विज्ञान के जरिए अपने हर सपने को पूरा किया जा सकता है

बीजापुर  : जिला प्रशासन एवं राजीव गांधी शिक्षा मिशन के माध्यम से ऑडिटोरियम में साइंस सेमीनार का आयोजन किया गया जिसमें दिल्ली की संस्था कैड के विशेषज्ञ पवन कुमार, अभिषेक कुमार एवं विकास कुमार द्वारा बच्चो को विज्ञान के क्षेत्र मंे शोध को बढ़ावा देने के टिप्स दिये गये। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जमुना सकनी, उपाध्यक्ष शंकर कुडियम, नगरपालिका उपाध्यक्ष घासीराम नाग, सीईओ जिला पंचायत अभिषेक सिंह, जिला मिशन समन्वयक विजेन्द्र राठौर सहित छू लो आसमान व रेसीडेंसियल स्कूल के बच्चे शामिल रहे। कार्यक्रम का आयोजन कलेक्टर डॉ. अय्याज तम्बोली के निर्देश पर बच्चों में विज्ञान के प्रति रूचि बढ़ाने हेतु आयोजित किया गया।

साइंस सेमीनार का शुभारंभ जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जमुना सकनी द्वारा माँ सरस्वती व पंडित दीनदयाल की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। सेमीनार में बच्चो को मार्गदर्शन देते हुए सीईओ जिला पंचायत अभिषेक सिंह ने कहा कि हमारा जिला और हमारे बच्चे शिक्षा के क्षेत्र मंे काफी प्रयासो के बाद अब आगे बढ़ने की ओर अग्रसर है। छू लो आसमान जैसी संस्थाओं के जरिए बच्चो मंे वैज्ञानिक सोच को बढावा देने के साथ इंजीनियरिंग व मेडिकल के क्षेत्र में आगे बढ़ने के अवसर प्रदान किये जा रहे है। पहली बार राष्ट्रीय स्तर की संस्था क्रियेटिंग ए डिफरेंस के विशेषज्ञ विज्ञान के क्षेत्र मंे कैरियर का मार्गदर्शन व शोध को बढ़ावा देने साइंस सेमीनार के माध्यम से हमारे बीच आये है यह आने वाले भविष्य के लिए मार्गदर्शी साबित होगा। साइंस सेमीनार में आये हुए विषय विशेषज्ञ पवन कुमार, अभिषेक कुमार व विकास कुमार ने तीन घण्टे तक लगातार आयोजित साइंस सेमीनार मंे बच्चों को विज्ञान की शिक्षा एवं विज्ञान के क्षेत्र मंे शोध को बढ़ावा देने परस्पर संवाद करते हुए आवश्यक जानकारी प्रदान की। विषय विशेषज्ञों ने बताया कि आज की युवा पीढ़ी को विज्ञान की पढ़ाई मंे रूचि रखने व कैरियर बनाने के लिए सतत् सजग रहना आवश्यक है। विश्व मंे जो कुछ भी शोध अथवा नवाचार हो रहा है उस सूचना के गैप को कम करना इस सेमीनार का उद्देश्य है। सभी सूचनाएं आप तक पहुंचेगीं तभी आप में आगे कुछ करने की जिज्ञासा जागृत होगी। विज्ञान ही एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिए आपके हर सपने को पूरा किया जा सकता है। 1990 में यूएसए के राष्ट्रपति को जो जानकारी उपलब्ध थी वह सारी जानकारी आज गुगल के माध्यम से हर बच्चों के पास उपलब्ध है। हजारो सालो से हमारे पास अनसुलझे सवाल व्याप्त है जिन्हें केवल विज्ञान के जरिए ही सुलझाया जा सकता है। विज्ञान में अनुमान का कोई महत्व नहीं है इस क्षेत्र में या तो हॉ होता है अथवा नहीं होता है। विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में ऐसे हजारो सवाल है जिन्हें सुलझाया नहीं जा सका है जिनके समाधान के लिए अद्भुत दिमाग की आवश्यकता है। कैड के साइंस सेमीनार का उद्देश्य सूचना तंत्र के अवरोध को दूर कर छात्रो को विज्ञान के क्षेत्र में कैरियर बनाने व शोध करने के लिए प्रेरित करना है। आप में वैज्ञानिक बनने की क्षमता विकसित हो इस प्रकार के शोध विज्ञान के क्षेत्र मंे कर आगे बढ़ा जा सकता है।

सेमीनार में राष्ट्रीय प्रतिभा खोज की तैयारी कर रहे तकरीबन 150 छात्र-छात्राओ को शामिल किया गया जो छू लो आसमान तथा शिक्षा मिशन द्वारा संचालित रेसीडेंसियल स्कूल से संबंद्ध है। सेमीनार के अंत मंे विशेषज्ञों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर बच्चों से सवाल पूछे गये जिसका जवाब बच्चो द्वारा तत्परतापूर्वक दिया गया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *