क्राइमछत्तीसगढ़

करीब 8 लाख रुपए की धोखाधड़ी की घटना को अंजाम दे चुके ठग गिरफ्तार

दूसरे को सरकारी नौकरी दिलाने के एवज में धोखाधड़ी की घटना

रायपुर: राजधानी रायपुर के राखी थाना इलाके में राखी पुलिस ने धोखाधड़ी के केस में आरोपी को अपनी गिरफ्त में लिया है. आरोपी के ऊपर दूसरे को सरकारी नौकरी दिलाने के एवज में करीब 8 लाख रूपए की धोखाधड़ी की घटना को अंजाम देने का आरोप है.

मिली जानकारी के अनुसार निमोरा निवासी आरोपी उमेश बारले ने दुर्ग निवासी चंद्रकला चतुर्वेदी, लक्ष्मीनारायण घृतलहरे और राजनांदगांव के निवासी नोहर सिन्हा को नौकरी लगाने के नाम पर पैसा ऐंठ चुका था.

पीड़िता चंद्रकला चतुर्वेदी के मुताबिक 2017 में आरक्षक भर्ती के लिए विज्ञापन प्रकाशित के बाद उसने आवेदन किया था. इसी दौरान वो उमेश बारले के संपर्क में आई. उससे आरक्षक के पद पर नौकरी लगाने की बात कहकर उसने 2 लाख रुपए ले लिया.

5 लाख की मांग

इसी तरह लक्ष्मीनारायण घृतलहरे से रेलवे टैक्नीशियन ग्रुप-डी में नौकरी लगाने के नाम पर बायोडाटा के साथ 5 लाख की मांग किया, जिस पर लक्ष्मीनारायण ने उसे 4 लाख 10 हजार रुपए दिया.

जब रेलवे का परिणाम आया तो लक्ष्मीनारायण का चयन नहीं हुआ. इसके अलावा नोहर सिन्हा से भी उसने एयरपोर्ट एयरलाइंस में ग्राउंड हैल्ड़िंग के पद पर नौकरी लगाने के नाम से 2 लाख रुपए लिया था.

इन तीनों की शिकायत पर राखी थाना पुलिस ने आरोपी उमेश बारले के खिलाफ अलग-अलग अपराध दर्ज किया. इस मामले में अब कुछ और लोग भी सामने आ सकते है. जिससे आरोपी ने नौकरी लगाने के नाम पर पैसे लिए है.

राखी थाना टीआई राजेन्द्र दीवान ने बताया कि आरोपी उमेश बारले निमोरा का निवासी है. वह खुद खेती किसानी का काम करता है. आरोपी पहले भी 420 के मामले में जेल जा चुका है. फिलहाल आरोपी उमेश बारले को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया गया है.

Tags
Back to top button