पैरेंटिंग

बिजी शेड्यूल के बीच इस तरह से बच्चों के लिए निकाले समय

बच्चों के लिए उनके पहले शिक्षक और पहले दोस्त उनके माता पिता ही होते है। अपने बच्चों की खुशी के लिए लोग बहुत मेहनत करते है जिससे उन्हें किसी चीज की कमी ना हो।

हालांकि बहुत सारे पैरेंट्स अपने बच्चों की सुख सुविधा को पूरा करने के लिए अपने काम में इतने बिजी हो जाते हैं कि बच्चों के साथ ही वक्त नहीं निकाल पाते हैं।

अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आपको बताते हैं कुछ ऐसे टिप्स जिससे आप अपने बच्चों के लिए समय निकाल सकते हैं औऱ बॉन्डिंग भी बढ़ा सकते हैं।

बच्चों के लिए निकाले समय

अगर आप यह सोचेंगे कि वक्त निकालें और तब बच्चों के साथ वक्त बिताएंगे तो ऐसा नहीं होने वाला। वक्त की कमी आपको हमेशा महसूस होती रहेगी।

ऐसे में स्मार्ट तरीके से अपने बच्चों के लिए वक्त निकालें। सुबह के समय नाश्ते के वक्त उनके साथ बैठें।

स्कूल जाने से पहले दस मिनट के लिए ही सही उनसे बात करें। सोने के वक्त भी अपने बच्चे से बात करें।

इस तरह से आप समय भी निकाल लेंगे और आपके बच्चे को आपकी कमी भी महसूस नही होगी।

अगर आप बच्चे को खुद स्कूल लेने या छोड़ने जा रहे हों तो उनसे बातचीत करें। इससे आप और आपके बच्चे के बीच क्मयूनिकेशन गैप नहीं होगा।

खाना हो साथ साथ

बच्चों के साथ बातचीत करना तो सही है, लेकिन उन्हे खाने की मेज पर कभी अकेला ना छोड़े। खाने का वक्त एक ऐसा समय होता है जब आप बिल्कुल खाली होते हैं और आप ध्यान से अपने बच्चे की बात सुन सकते हैं।

साथ ही खाने के वक्त आप इस बात पर भी ध्यान दे सकते हैं कि आपका बच्चा क्या खाना पसंद करता है।

आपके बच्चे के खाने में कोई कमी तो नही है। साथ ही अगर आप कुछ उन्हे अच्छा खिलाना चाहते हैं तो साथ बैठकर ही कर सकते हैं।

वीकेंड पर ना करें काम

भले ही आप दोनों वर्किंग हों, लेकिन वीकेंड के वक्त आप खुद को बिल्कुल खाली रखें। वीकेंड का वक्त समय परिवार के साथ बिताने के लिए बहुत अच्छा होता है।

वीकेंड के वक्त में आप बच्चों के साथ कुकिंग करें या कोई गेम खेलें। आफ उनके साथ कहीं बाहर घूमने भी जा सकते हैं।

इसके साथ ही आप पेंटिंग का काम भी अपने बच्चों के साथ कर सकते हैं।

गैजेट्स को रखें दूर

स्मार्टफोन से लगे रहने वाले लोगों के रिश्ते अक्सर खराब हो जाते हैं। लोगों को पता नहीं चलता, लेकिन स्मार्टफोन के इस्तेमाल से अक्सर दूरियां बढ़ जाती हैं।

बच्चे भी आजकल स्मार्टफोन की दुनियां में ही खोए रहते हैं। जब भी बच्चों के साथ रहें तो ना खुद स्मार्टफोन का इस्तेमाल करें और ना ही बच्चों को इसका इस्तेमाल करने दें।

मोबाइल, टैबलेट या किसी दूसरे तरह के गैजेट से अपने बच्चों को दूर रखें। पूरा समय सिर्फ और सिर्फ अपने बच्चों के साथ बिताएं।

इससे आपके बच्चों के बीच आपसी समझदारी भी बढ़ेगी औऱ आपके साथ भी रिश्ता मजबूत होगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
बिजी शेड्यूल के बीच इस तरह से बच्चों के लिए निकाले समय
Author Rating
51star1star1star1star1star