राष्ट्रीय

टीपू जयंती: भाजपा का फिर विरोध प्रदर्शन,इधर कर्नाटक सरकार ने की ये घोषणा

कर्नाटक सरकार ने दी चेतावनी

बेंगलुरु। कर्नाटक सरकार शनिवार को मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती मनाने जा रही है। पर लगता है भाजपा को सरकार का ये कदम पसंद नहीं आया इसी लिए उन्होंने बड़े स्तर पर इसका विरोध करना शुरू कर दिया है।

बीजेपी कार्यकर्ता और नेता तख्तियां लेकर बेंगलुरु में इस आयोजन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कर्नाटक सरकार ने घोषणा कर दी है कि वह बीजेपी के विरोध के बावजूद इस वर्ष भी 18वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक ही मनाएगी। बीजेपी ने मैसूर के शासक को अत्याचारी करार दिया है।

10 नवंबर को होने वाले इस कार्यक्रम के विरोध में बीजेपी और श्री राम सेना के समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि एक अत्याचारी के जन्मदिन को मनाए जाने की कोई जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि टीपू सुल्तान हिंदू विरोधी थे। बीजेपी प्रवक्ता एस प्रकाश ने कहा कि जब पिछली कांग्रेस सरकार ने टीपू जयंती मनाने का फैसला किया था, उस समय उनका काफी विरोध हुआ था।

सरकार की मंशा केवल मुस्लिम समुदाय को संतुष्ट करने की : येदियुरप्पा

इससे पहले येदियुरप्पा ने भी इसका विरोध करते हुए कहा था, हम टीपू जयंती का विरोध कर रहे हैं और लोगों के हित में राज्य सरकार को इसे रोकना चाहिए। उन्होंने कहा, टीपू जयंती मनाने के पीछे सरकार की मंशा केवल मुस्लिम समुदाय को संतुष्ट करने की है। विरोध के बाद मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने चेतावनी दी है कि यदि किसी ने आधिकारिक कार्यक्रम में बाधा डाली तो उसे कानून का सामना करना होगा।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags