राष्ट्रीय

टीपू सुल्तान हत्यारा या स्तंत्रता सेनानी? बहस के बीच इरफान हबीब का नया एंगल

टीपू सुल्तान हत्यारा या स्तंत्रता सेनानी? बहस के बीच इरफान हबीब का नया एंगल

नई दिल्ली: देश भर में टीपू सुल्तान के स्वतंत्रता सेनानी होने या नहीं होने पर जारी बहस के बीच इतिहासकार ने एक नया पक्ष रखा है. इतिहासकार इरफान हबीब का कहना है कि 18वीं सदी के मैसूर शासक टीपू सुल्तान न तो स्वतंत्रता सेनानी थे और न ही तानाशाह. उनमें से बहुत से इतिहासकार इस बात पर सहमत हैं कि टीपू इतिहास में ब्रिटिश औपनिवेशिक विस्तार के प्रतिरोध के प्रतीक हैं. कर्नाटक में टीपू सुल्तान की विरासत को लेकर सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच शब्दों के तीर चलाए गए हैं.

बीजेपी ने 10 नवम्बर को ‘टीपू जयंती’ समारोह मनाये जाने की कांग्रेस सरकार की योजना का विरोध किया है. बीजेपी का एक वर्ग उन्हें (टीपू को) ‘धार्मिक कट्टरवादी’ और ‘क्रूर हत्यारे’ मानता है जबकि कांग्रेस के कुछ नेताओं ने उनकी एक स्वतंत्रता सेनानी के रूप में प्रशंसा की है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *