सड़क दुर्घटनाओं को रोकने, शराब पीकर वाहन चलाने वालों की होगी जांच

भरत ठाकुर :

कवर्धा : सड़क हादसों पर लगाम लगाने शहर के बाहर वाहन चालकों की संघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस रोज शाम वाहनों चालकों के लाइसेंस व ब्रीथ एनालाइजर से अल्कोहल की जांच कर रही है। ट्रैफिक पुलिस की तैनाती चौक चौराहों पर की की जा रही है।

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण की अध्यक्षता में मंगलवार को यहां कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक में जिले के राष्ट्रीय मार्गए राजमार्ग और ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों में होने वाले दुर्घटनाओं को रोकने के लिए गहन चर्चा कर कई निर्णय लिए गये।

सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए शराब पीकर वाहन चलाने वाले दोपहिये और चार पहिये वाहन चालकों की जांच की जाएगी और उनके विरूद्घ कार्रवाई भी की जाएगी।

इसके लिए कलेक्टर ने पुलिस विभाग निर्देश दिए है। इसके अलावा सड़क दुर्घटना को कम करने के लिए मुख्यमार्गों पर स्थित बड़े पेड़ों पर रिफ्लेक्टर लगाने और सड़कों पर संकेत बोर्ड और मार्ग प्रदर्शक बोर्ड लगाने पर भी चर्चा हुई।

कलेक्टर ने जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में चिल्फी की घाटियों में भी मार्ग प्रदर्शकए संकेत बोर्ड और रिफ्लेक्टर लगाने के निर्देश दिए है। साथ ही चिल्फीघाटी मार्ग पर सोल्डर पट्टिका लगाने के लिए भी कहा है।

कलेक्टर ने इसके अलावा कवर्धा से पोड़ी मार्ग एवं पंडरिया से बिलासपुर मार्ग और कवर्धा से राजनांदगांव मार्ग के दुर्घटना जन्य स्थलों पर भी यातायात सुरक्षा की दृष्टि से आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा है।

बैठक में जिले के प्रमुख मार्गों के दुर्घटना जन्य स्थलों में गति अवरोधक बनाने के लिए भी सहमति बनी है। कलेक्टर ने कवर्धा शहर में यातायात व्यवस्था सुगम और सुरक्षित करने के लिए यातायात पुलिस को निर्देशित किया है।

कवर्धा नगर पालिका के अंदर प्रमुख मार्गों में बनी गति अवरोधक हटाने के लिए भी कहा है। शहर के अंदर प्रमुख मार्गों जहां गड्ढे के कारण दुर्घटना की स्थिति बन रही है।

ऐसे स्थलों को चिन्हाकिंत कर मरम्मत करने के लिए कहा है। कलेक्टर ने कवर्धा शहर के अंदर यातायात व्यवस्था बेहतर करने के लिए और आवारा मवेशियों को पकड़कर गौशाला में रखने के लिए पालिका एवं यातायात पुलिस विभाग को निर्देशित किया है।

दुर्घटनाओं पर की चिंता

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में जिले में हो रहे लगातार दुर्घटनाओं पर भी चिंता व्यक्त की गई। बैठक में बताया गया कि शराब पीकर वाहन चलाना और वाहन की गति अधिक होने के कारण भी दुर्घटना की स्थिति निर्मित हो रही है।

सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए यातायात नियमों के तहत जगरूकता अभियान और जांच अभियान चलाने के लिए भी कहा गया है। पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उम्मेद सिंह ने बताया कि जिले में पिछले साल की तुलना में इस वर्ष ज्यादा सड़क दुर्घटना हुई है।

उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना को रोकने के लिए जागरूकता सहित जांच अभियान आवश्यक है। बैठक में सर्व अनुविभागीय अधिकारी विपुल गुप्ता, अभिषेक अग्रवाल, अनिल सिदार डिप्टी कलेक्टर एसएस सोम, डीएसपी दीवान, यातायात प्रभारी प्रकाश तिवारी सहित जिला सड़क सुरक्षा समिति के सदस्यगण उपस्थित थे।

new jindal advt tree advt
Back to top button