मंजिल पाने के लिए स्वस्थ रहना जरूरी : महेश गागड़ा

मंजिल पाने के लिए स्वस्थ रहना जरूरी : महेश गागड़ा

रायपुर । वार्षिकोत्सव का उद्देश्य मनोरंजन के साथ-साथ विद्यार्थियों में आत्मसंयम, छात्र-छात्राओं की रुचियां और प्रगति का लेखा जोखा जानना होता है। इस प्रकार के आयोजनों से सभी विद्यार्थियों को नए उत्साह और प्रेरणा की अनुभूति होती है। विद्यालय में विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा, प्रदर्शन और दायित्व की भावना को विकसित होने का पूरा मौका मिलता है। विद्यार्थी वार्षिकोत्सव में अपनी अर्जित प्रतिभा को प्रदर्शित करते हैं।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

वन मंत्री महेश गागड़ा आज बीजापुर जिले के तहसील मुख्यालय भैरमगढ़ में आयोजित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भैरमगढ़ के वार्षिकोत्सव के समापन समारोह को मुख्य अतिथि के आसंदी से संबोधित कर रहे थे। विद्यालय में तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, जिसका आज अंतिम दिन है। विद्यार्थियों की शारीरिक, बौद्धिक और कलात्मक क्षमता को मापने के लिए स्कूल प्रबंधन द्वारा सत्यम, शिवम, सुंदरम, मधुरम नाम से चार दल बनाये गये हैं। विद्यार्थियों को चारों दलों में बांटा गया है और दल अनुरुप विभिन्न सांस्कृतिक और खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। यह आयोजन तीन दिनों से उल्लास पूर्वक और बड़े उत्सव के रुप में मनाया गया है।

वन मंत्री और क्षेत्रीय विधायक महेश गागड़ा ने विभिन्न वर्गों व्हालीवॉल, बैडमिंटन, रिले दौड़, कबड्डी, दौड़ के बालक-जुनियर एवं सीनियर एवं बालिका-जूनियर और सीनियर वर्ग में विजेता खिलाड़ियों और 2017 शैक्षणिक वर्ष के प्रतिभाशाली विद्यार्थी जिन्होने अपनी-अपनी कक्षा में उच्चतम अंक प्राप्त किये हैं को पुरस्कार वितरित किये। मंत्री ने अपने उद्बोधन में खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज मान्यता बदल चुकी है।

खेलकूद को शिक्षा का अनिवार्य अंग मानकर महत्व दिया जाता है। खेलकूद शारीरिक के साथ-साथ बौद्धिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खेल से शरीर और दिमाग दोनों स्वस्थ होते हैं। आपसी तालमेल और सुझबूझ विकसित होता है। संघर्षों और विपरीत परिस्थितियों से सामना करने की क्षमता भी विकसित होती है। शोषण और बुराईयों से लड़ने के लिए हिम्मत प्राप्त होता है। वार्षिकोत्सव के दौरान छात्रों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मंत्री ने प्रशंसा की। मंत्री ने कहा कि, आपके कार्यक्रम ने मेरे साथ-साथ दर्शकों का भी मन मोह लिया। अब हम शासन के कार्यक्रमों में इन बच्चों की भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।

कार्यक्रम में नगर पंचायत भैरमगढ़ के अध्यक्ष दशरथ परबुलिया, शाला प्रबंधन समिति के सदस्य मुरलीकृष्ण नायडू, प्राचार्य बी.आर.पाल, उप प्राचार्य प्रहलाद जैन, संजय लुक्कड़, राकेश पॉटनवाल, सुखलाल पुजारी सहित नगर के गणमान्य, शिक्षक-शिक्षिकाएं और छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

advt
Back to top button