पुरखों के सपने को पूरा करने सभी समाज का सहयोग जरूरी: भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के वार्षिक सम्मेलन में शामिल हुए

रायपुर।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि हमारे पुरखों ने गांव को समृद्ध बनाने का सपना देखा था। हमें इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि के साथ-साथ शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार पर जोर देना होगा।

गांव की समृद्धि के लिए छत्तीसगढ़ के चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरवा और बारी के संरक्षण और विकास की योजना हाथ में ली है, जिससे गांव में जल संसाधन का सदुपयोग हो, पशुधन को बढ़ावा मिले, जैविक खाद आदि के माध्यम से जैविक कृृषि को बढ़ावा मिले तथा हमारे गांव उद्यानिकी के क्षेत्र में भी आगे बढ़े। इसके लिए किसानों तथा समाज के सभी नागरिकों की भागीदारी जरूरी है।

भूपेश बघेल ने यह उद्गार छत्तीसगढ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज रायपुर राज के वार्षिक अधिवेशन में व्यक्त किए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री का समाज की ओर से अभिनंदन किया गया। उन्हें प्रतीक स्वरूप बैलगाड़ी की प्रतिकृति भेंट कर सम्मानित किया गया।

बघेल ने आगे कहा कि समाज में सकारात्मक दिशा में बदलाव पर जोर देते हुए कहा कि समाज जब चाहेगा तभी शराबबंदी होगी। शराबबंदी के लिए सरकार द्वारा दो समितियां गठित की जा रही है। एक राजनैतिक दलों की समिति होगी, जिन राज्यों में शराबबंदी लागू हुई है लेकिन सफल नही हुई है, यह समिति उन विफलताओं का अध्ययन करेगी।

इसके अलावा दूसरी सामाजिक समिति शराबबंदी में समाज की भूमिका के लिए रास्ता सुझाएगी। उन्होंने शराबबंदी के लिए समाज में वातावरण बनाने सभी समाज से इस सबंध में जागरूक अभियान चलाने का आव्हान किया।

कार्यक्रम को लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में राज्य सभा सांसद छाया वर्मा, पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलपति डा. केशरीलाल वर्मा, जिला पंचायत रायपुर की अध्यक्ष शारदा देवी वर्मा, कुर्मी क्षत्रिय समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. राम कुमार सिरमौर, रायपुर राज प्रधान नर्मदा वर्मा सहित समाज के पदाधिकारी एवं सामाजिक बंधु उपस्थित थे।

1
Back to top button