35A पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, कश्मीर घाटी में हालात गरमाया

आर्टिकल को भेदभावपूर्ण बताते हुए दिल्ली के एनजीओ 'वी द सिटिजन' ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

श्रीनगर. सुप्रीम कोर्ट अनुच्छेद 35ए की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सोमवार से सुनवाई शुरू करेगा। इसे लेकर कश्मीर घाटी में हालात गरमा गया है। करीब छह दशक से जारी आर्टिकल 35-A को संवेदनशील मसला समझा जाता है और इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में जो भी फैसला आए, इसके दूरगामी राजनीतिक नतीजे देखे जा रहे हैं।

घाटी को सुप्रीम कोर्ट पर विश्वास करना चाहिए। ये घाटी के उन लोगों को समझ लेना चाहिए कि जीना यहां,मरना यहां,इसके सिवा जाना कहाँ। ना तो निगले बने ना उगले महिलायों को ताकत देनी ही आर्टिकल को भेदभावपूर्ण बताते हुए दिल्ली के एनजीओ ‘वी द सिटिजन’ ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

रविवार को कश्मीर के कई जिलों में प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारियों ने इसके विरोध में दो दिन के बंद का आह्वान भी किया है। इसके मद्देनजर प्रशासन ने भारी सुरक्षाबल की तैनाती की है। आर्टिकल को कायम रखने के पक्ष में अलगाववादियों की संस्था JRL (जॉइंट रजिस्टेंट लीडरशिप) ने रविवार और सोमवार को घाटी बंद रखने का ऐलान किया।

बंद को कारोबारियों और बार असोसिएशन का भी पूरा समर्थन है। घाटी में रविवार और सोमवार को ट्रेन सेवाएं सस्पेंड रखी गई हैं। अमरनाथ यात्रा को भी ऐहतियातन दो दिन के लिए रोका गया है।

सूत्रों के मुताबिक, खुफिया विभाग ने राज्यपाल प्रशासन को अगाह किया है कि सोमवार को अगर सुप्रीम कोर्ट संविधान के अनुच्छेद 35ए पर कोई ‘विपरीत’ फैसला देता है तो राज्य की पुलिस में ही ‘विद्रोह’ हो सकता है।

Tags
Back to top button