पार्श्वगायिका अनुराधा पौडवाल का आज है जन्मदिन, जानिए अब तक का सफर

अनुराधा को पहचान मिली साल 1976 में सुभाष घई की फिल्म कालीचरन से

मुंबई : गायिका अनुराधा पौडवाल की आवाज का जादू ऐसा है कि आज भी लोग उनके गानों के दीवाने हैं। 80 के दशक में अपना करियर शुरू करने वाली अनुराधा पौडवाल जल्द ही बॉलीवुड की टॉप सिंगर में शामिल हो गईं।

1973 में अमिताभ बच्चन और जया भादुड़ी की फिल्म अभिमान से अनुराधा पौडवाल ने अपने करियर की शुरुआत की थी। अनुराधा को पहचान मिली साल 1976 में सुभाष घई की फिल्म कालीचरन से।

इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

बॉलीवुड की मशहूर पाश्र्वगायिका अनुराधा पौडवाल आज अपना जन्मदिन मनाएंगी। बचपन से ही उनका रूझान संगीत की ओर था और वह पाश्र्वगायिका बनने का सपना देखा करती थी।

अपने सपनों को साकार करने के लिए उन्होंने बॉलीवुड की ओर रूख किया।

अनुराधा पौडवाल के बारे में जानें ये खास बातें
अनुराधा पौडवाल ने वर्ष 1973 में प्रदर्शित फिल्म ‘अभिमान’ से अपने करियर की शुरूआत की।

अनुराधा 15 बार बेस्ट प्ले बैक सिंगर के लिए नोमिनेट हुई है। अनुराधा की गयिकी के कई लोग मुरीद हैं। लेकिन अनुराधा ने कभी शास्त्रिए संगीत की ट्रेनिंग नहीं ली।

अनुराधा ने अपने भक्तिपूर्ण गीतों के जरिए श्रोताओं के दिलों में खास पहचान बनाई है।

लगभग सात वर्ष तक मुंबई में संघर्ष करने के बाद 1980 में फिल्म ‘हीरो’ में लक्ष्मीकांत प्यारे लाल के संगीत निर्देशन में ‘तू मेरा जानू है तू मेरा दिलबर है’ की सफलता के बाद अनुराध इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब रही।

अनुराधा पौडवाल की किस्मत का सितारा वर्ष 1990 में प्रदर्शित फिल्म ‘आशिकी’ से चमका। इस फिल्म के सदाबहार गीत आज भी दर्शकों और श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर देते हैं।

जब अनुराधा का करियर अपने चरम पर था, तब उन्होंने घोषणा कर दी थी कि अब वो सिर्फ टी-सीरीज के लिए ही गाएंगी।

Back to top button