आज विश्व मरुस्थलीकरण और सूखे से निपटने का दिवस है

delhi: आज विश्व मरुस्थलीकरण और सूखे से निपटने का दिवस है। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि यह दिन सभी को यह याद दिलाने के लिए एक अनूठा क्षण है कि समस्या-समाधान, मजबूत सामुदायिक भागीदारी और सभी स्तरों पर सहयोग से भू-क्षरण तटस्थता प्राप्त की जा सकती है।

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि भारत भूमि क्षरण तटस्थता के लक्ष्य को प्राप्त करने के है। जावड़ेकर ने कहा कि भारत का उद्देश्य 2030 तक दो करोड़ 60 लाख हेक्टेयर खराब हो चुकी भूमि को इस्तेमाल योग्य बनाना है

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button