आज है विश्व योग दिवस, पीएम मोदी करेंगे देहरादून में योग

पीएम मोदी भी उत्तराखंड के देहरादून में योगासन करते नजर आएंगे

नई दिल्ली। आज पुरे विश्व में अन्तराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। अच्छे स्वस्थ और निरोगी जीवन के लिए सदियों पुरानी इस कला से तन मन पूरी तरह से स्वस्थ और निरोगी हो जाता है । योग करने से हमारे अन्दर की सारे विकार बाहर हो जाते हैं. उत्तराखंड के देहरादून में 55 हजार लोगों के बीच होने वाला योगासन देश में सबसे बड़ा आयोजन होगा। जिसमे देश के प्रधानमंत्री योगासन करते नजर आएंगे।

सुबह साढ़े छह बजे पीएम मोदी एफआरआइ परिसर पहुंचे। लोगों ने तालियों से पीएम का अभिनंदन किया। इस दौरान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चतुर्थ अंतरराष्‍ट्रीय योग की मेजबानी उत्‍तराखंड को मिलनी गौरव की बात है। कहा आपका (मोदी) का इस देवधरा से विशेष लगाव है, इस लिए आप हमारी चिंता करत हैं। मेजबानी के लिए सीएम ने पीएम मोदी का धन्‍यवाद किया।

इसके लिए मोदी बुधवार रात्रि देहरादून पहुंच गए। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर राज्यपाल कृष्णकांत पाल और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनका स्वागत किया। इसके अलावा 150 से अधिक देशों में योग दिवस मनाया जाएगा। आयुष मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए करीब 5000 आयोजन होंगे।

चार साल पूर्व शुरू हुए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया और संदेश दिया कि योग सेहत की गारंटी का पासपोर्ट है। यह सिर्फ शरीर को फिट रखने के लिए कसरत मात्र नहीं है।

उन्होंने कहा कि योग दरअसल मैं से हम की यात्रा है। यह संतुलन और शांति देता है। ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है और असीम ताकत देता है। मैं पूरी दुनिया के लोगों से अपील करता हूं कि वे योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं।

2014 से हुई शुरुआत

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसंबर 2014 में घोषित किया था कि हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। इस दिन का महत्व इसलिए भी है कि 21 जून साल का सबसे लंबा दिन होता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में पूरी दुनिया में योग दिवस मनाने का आह्वान किया था।

-नई दिल्ली में आठ जगहों पर आयोजन हो रहे हैं। मुख्य कार्यक्रम राजपथ पर हो रहा है।
-ब्रह्मकुमारी संस्था लाल किले पर आयोजन कर रही है। इसमें बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआइएसएफ समेत विभिन्न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल एजेंसियों की महिला कर्मियों समेत 50,000 लोग शामिल हैं।
-द्वारका में पतंजलि योग समिति और रोहिणी में आर्ट ऑफ लिविंग का आयोजन किया जा रहा है।

Back to top button