आज अंतरिक्ष की कक्षा में स्‍थापित किया जाएगा 31 उपग्रहों को

आठ देशों के 30 उपग्रह भी किए जाएंगे प्रक्षेपित

अंतरिक्ष की कक्षा में आज भारतीय रॉकेट धुव्रीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) द्वारा 31 उपग्रहों को स्थापित किया जाएगा।

बता दें इस अभियान में इसरो के अंतरिक्षयान पीएसएलवी-सी43 के साथ आठ देशों के 30 उपग्रह भी प्रक्षेपित किए जाएंगे।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अनुसार, पीएसएलवी 380 किलोग्राम भार वाले हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाइट और 30 अन्य उपग्रहों के साथ गुरुवार को सुबह 9.58 बजे अंतरिक्ष के लिए रवाना होगा।

30 अन्य उपग्रहों का कुल वजन 261.5 किलोग्राम है। प्रक्षेपण यान के रवाना होने के बाद महज 112 मिनट में संपूर्ण अभियान पूरा हो जाएगा।

रॉकेट का चौथा चरण उड़ान भरने के महज 16 मिनट बाद शुरू हो जाएगा।

17 मिनट से अधिक की उड़ान भरने पर पीएसएलवी रॉकेट हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाइट को कक्षा में स्थापित कर देगा जो वहां पांच साल तक रहेगा।

इसके बाद रॉकेट 642 किलोमीटर की ऊंचाई से नीचे 503 किलोमीटर पर आएगा और उड़ान भरने के करीब 112.79 मिनट के भीतर अंतिम उपग्रह को उसकी कक्षा में पहुंचा देगा।

इसरो ने इससे पहले जनवरी में दो घंटे तक उपग्रह प्रक्षेपण अभियान चलाया था।

सभी 30 उपग्रह 504 किलोमीटर की कक्षा में स्थापित किए जाएंगे।

इनमें से 23 सेटेलाइट अमेरिका के हैं और बाकी ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड और स्पेन के हैं।

1
Back to top button