राष्ट्रीय

आज अटल भूजल और अटल टनल नाम की दो महत्वपूर्ण योजनाओं की होगी शुरुआत

इस योजना के लिए 6,000 करोड़ रुपये आवंटित करेगी केंद्र सरकार

नई दिल्ली/लखनऊ: पहली बार 1996 में 13 दिनों के कार्यकाल के लिए, फिर 1998 से 1999 तक 13 महीनों की अवधि के लिए और अंत में, के लिए 1999 से 2004 तक का पूरा कार्यकाल करने वाले भारत के पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी का आज जन्मदिन है.

इस अवसर पर केंद्र सरकार 6,000 करोड़ रुपये की लागत वाली दो महत्वपूर्ण योजनाओं की शुरुआत कर रही है. ये योजनाएं अटल भूजल और अटल टनल नाम से शुरू की जा रही है. इसके लिए केंद्र सरकार 6,000 करोड़ रुपये आवंटित करेगी. दोनों ही योजनाओं की शुरुआत वाजपेयी के जन्मदिवस को होगी.

इस योजना का लाभ 7 राज्यों को होगा. इस योजना में उतर प्रदेश, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र शामिल हैं. सरकार का दावा है कि इस योजना से किसानों की आय दोगुनी करने में सहायता मिलेगी. इस योजना से 8,350 गांवों को लाभ मिलेगा.

अटल भूजल योजना होगी शुरू

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कैबिनेट के फैसले के बाद मंगलवार को बताया कि पानी की समस्या से निपटने के लिए अटल भूजल योजना पर पांच साल में 6,000 करोड़ रुपये का खर्च होगा. इसमें 3,000 करोड़ रुपये वर्ल्‍ड बैंक और 3,000 करोड़ रुपये सरकार देगी. इस योजना का लक्ष्य देश के उन इलाकों में भूजल स्तर को ऊपर उठाने का है, जिन इलाकों में ये काफी नीचे चला गया है. इसके साथ ही अटल टनल भी लॉन्च होगी.

सुरंग का नाम होगा अटल टनल

अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर लॉन्‍च होने वाली दूसरी योजना अटल टनल मनाली से लेह तक होगी. इस योजना को 2005 में ही मंजूरी मिली थी. इसके लिए 4000 करोड़ रुपये मंजूर किया गया है. कुल 8.8 किलोमीटर लंबी इस योजना का तकरीबन 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है. दावा किया गया है कि यह विश्व का सबसे ऊंचा टनल होगा.

इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को ही अटल बिहारी वाजपेयी की एक आदम कद प्रतिमा का लखनऊ में अनावरण करेंगे. प्रधानमंत्री दोपहर करीब 3 बजे लोक भवन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर अटल जी की प्रतिमा का अनावरण करेंगे. साथ ही अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी का शिलान्यास भी करेंगे.

Tags
Back to top button